40 लाख अवैध नागरिकों पर बोले सोशल मीडिया यूजर्स , जब असम में इतने अवैध लोग तो देश में कितने होंगे

Daily news network Posted: 2018-07-30 16:41:23 IST Updated: 2018-07-30 17:06:58 IST
40 लाख अवैध नागरिकों पर बोले सोशल मीडिया यूजर्स , जब असम में इतने अवैध लोग तो देश में कितने होंगे
  • असम में सोमवर को राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) का दूसरा और आखिरी मसौदा जारी कर दिया गया है। इसमें कुल 3.29 करोड़ लोगों में से 2.89 करोड़ लोग योग्य करार दिए गए हैं।

गुवाहाटी।

असम में सोमवर को राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) का दूसरा और आखिरी मसौदा जारी कर दिया गया है। इसमें कुल 3.29 करोड़ लोगों में से 2.89 करोड़ लोग योग्य करार दिए गए हैं। जबकि 40 लाख लोगों की नागरिकता को अवैध करार दिया गया है।एनआरसी का मसौदा जारी होने के बाद पूरे देश के लोगों की प्रतिक्रिया सोशल मीडिया पर आनी शुरू हो गर्इ है। इसमें कुछ लोगों ने पिछली कांग्रेस की सरकार पर निशाना साधा तो कुछ ने एनआरसी (NRC) की बात करते हुए कहा कि यह हिन्दू मुस्लिम, स्वदेशी-बंगाली मुद्दे के लिए नहीं हैै।

 


बता दें कि यह सर्वोच्च न्यायालय की एक निगरानी प्रक्रिया है जिससे असम में रहने वाले अवैध लोगों का पता लगाया जा रहा है। इस एनआरसी प्रक्रिया में हस्तक्षेप करने की कोशिश करने वाला कोई और नहीं बल्कि राष्ट्र विरोधी ही हो सकते हैं। वहीं एक यूजर ने मीडिया से कहा कि यह कोई धर्म नहीं है।

यहां हिंदू मुस्लिम की बात भी नहीं है। यहां अवैध प्रवासी की बात है। चीजों को तोड़ना मरोड़ना बंद करें। जबकि दूसरे ट्विटरबाज ने कहा कि असम के लिए यह बड़ा दिन है। बहुत सालों पहले हमने अंग्रेजों के खिलाफ अंग्रेज भारत छोड़ों बोलकर लड़ाई लड़ी थी और आज असम बांग्लादेशी असम छोड़ों बोलकर लड़ाई लड़ रहे हैं। तो वहीं किसी का कहना है कि अगर असम में ही महज 40 लाख लोग अवैध प्रवासी हे तो पूरे देश में कितने होंगे।

 

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद एनआरसी ने यह मसौदा आज जारी किया हैै। एनआरसी ने कहा कि यह सिर्फ मसौदा हैै। जिन लोगों के नाम पहले मसौदे में था लेकिन आखिरी मसौदे में नहीं है तो उनको एक व्यक्तिगत लेटर जारी किया जाएगा। जिसके जरिए वे अपना दावा पेश कर सकते हैं। तो आइए जानते हैं सोशल मीडिया पर एनअारसी को लेकर लोगों की क्या प्रतिक्रिया रही है।