दोस्त के साथ जा रही लड़की को देख गुस्साई भीड़ ने सरेआम लात-घूसों से पीटा, वीडियो वायरल

Daily news network Posted: 2018-04-11 10:21:30 IST Updated: 2018-06-26 14:33:10 IST
दोस्त के साथ जा रही लड़की को देख गुस्साई भीड़ ने सरेआम लात-घूसों से पीटा, वीडियो वायरल
  • सोशल मीडिया में इन दिनों एक ऐसा वीडियो वायरल हो रहा है जिसे देखकर किसी का भी दिल दहल सकता है। ये वीडियो असम के गोलपारा जिले का है

गुवाहाटी

सोशल मीडिया में इन दिनों एक ऐसा वीडियो वायरल हो रहा है जिसे देखकर किसी का भी दिल दहल सकता है। ये वीडियो असम के गोलपारा जिले का है जहां एक लड़की को कुछ लोगों की भीड़ ने सरेआम लात-घूसों से पीटा। इस वीडियो में दिख रहा है कि 22 साल की लड़की को बाल पकड़कर घसीटा गया। वो चीखती-चिल्लाती रही लेकिन किसी ने मदद नहीं की।

 

 


 काले रंग के कुर्ते और नीले रंग की जींस पहना लड़की मोबइल से किसी से बात कर रही है और ये लोग उस पर लात घूसे बरसा रहे हैं। लड़कों की पिटाई से लड़की चीख रही है औऱ रोते हुए उनसे ऐसा ना करने के लिए रहम की भीख भी मांग रही है है लेकिन ये लड़के रुकने का नाम नहीं ले रहे। वीडियो वायरल हुआ तो ये मामला स्थानीय पुलिस तक भी पहुंचा। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए वीडियो में नजर आ रहे कुछ लड़कों को गिरफ्तार किया है और बाकी के आरोपियों की तलाश हो रही है।

 

 


 बताया जा रहा है कि पीड़िता अपने दोस्त के साथ मेडिकल सेंटर जा रही थी। तभी कुछ लड़कों ने उसे घेर लिया और मारपीट करने लगे। मामला सोमवार का है। जिसमें 12 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है।



 लड़की की शादी तय हो चुकी है


गोलपारा के एसपी अमिताव सिन्हा ने कहा कि मामला मोरल पुलिसिंग का है। पीड़िता की शादी तय हो चुकी है। वो अपने मेल दोस्त के साथ कहीं जा रही थी उसी वक्त उसपर अटैक हुआ। आरोपियों ने जब उसे किसी दूसरे लड़के के साथ जाते हुए देखा तो उससे मारपीट की गई। आरोपी गारो समूह के हैं। उनका कहना है कि लड़की की शादी तय हो चुकी है। लेकिन वो दूसरी शख्स के भाग रही थी। जिसे पकड़े जाने के बाद पिटाई की गई।

 


 वीडियो वायरल होते ही पुलिस ने लिया एक्शन


पुलिस ने स्वसंज्ञान लेते हुए मामला दर्ज कर लिया। शिकायत दर्ज होने के बाद पुलिस ने फुर्ती दिखाते हुए इस मामले में सोमवार को 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। पीटीआई से बात करते हुए जिले के एसपी अमिताव सिन्हा ने बताया कि ये केस मोरल पुलिसिंग का है। पीड़ित लड़की और हमलावर भीड़ दोनों गारो समुदाय के हैं।