डोकलाम से लिया सबक,अरुणाचल में घुसे चीनी सैनिकों को ऐसा भगाया

Daily news network Posted: 2018-01-13 13:54:00 IST Updated: 2018-01-13 13:54:00 IST
  • चीनी सेना की रोड बनाने वाली टुकड़ी ने हाल ही में अरुणाचल के तूतिंग इलाके में घुसपैठ की थी। अरुणाचल के ऊपरी सियांग जिले में सड़क नहीं है।

चीनी सेना की रोड बनाने वाली टुकड़ी ने हाल ही में अरुणाचल के तूतिंग इलाके में घुसपैठ की थी। अरुणाचल के ऊपरी सियांग जिले में सड़क नहीं है।

 

 


जब तूतिंग में चीनी घुसपैठ की खबर मिली तो हमारे जवान उस इलाके के लिए रवाना हो गए लेकिन वहां तक पहुंचने के लिए उन्हें 19 घंटे पैदल चलना पड़ा। भारतीय सैनिकों की एक टुकड़ी के वहां पहुंचने के बाद चीनी सेना की सड़क बनाने वाली टुकड़ी के जवान वापस लौट गए। 

 

 


यह शायद डोकलाम में देरी से प्रतिक्रिया के चलते चीनी सैनिकों के साथ 73 दिन तक चले गतिरोध की सीख थी कि  28 दिसंबर को एक कुली से सूचना मिलते ही तुरंत सेना की टुकड़ी रवाना की गई। आपको बता दें कि चीनी सेना के सड़क निर्माण की सूचना एक कुली ने दी थी, जिसके बाद तुरंत सैनिकों को मैकमोहन लाइन के लिए रवाना किया गया था। भले ही सेना ने इस मामले में जीवटता दिखाई लेकिन सीमावर्ती क्षेत्रों के इंफ्रास्ट्रक्चर की समस्या भी इससे उजागर होती है कि सैनिकों को पैदल इतना लंबा सफर तय करना पड़ा।