अपने ही पिता की लात-घूसों से पिटाई करता है कलयुगी बेटा

Daily news network Posted: 2019-01-01 16:04:46 IST Updated: 2019-01-01 16:04:46 IST
अपने ही पिता की लात-घूसों से पिटाई करता है कलयुगी बेटा
  • यह कहानी है असम के हरेन्द्र नाथ की, जो अपने बेटे के हाथों ही हिंसा का शिकार हो रहे हैं। खुद हरेन्द्र नाथ ने ट्वीट कर अपनी कहानी बयां की और लोगों से मदद मांगी।

गुवाहाटी।

यह कहानी है असम के हरेन्द्र नाथ की, जो अपने बेटे के हाथों ही हिंसा का शिकार हो रहे हैं। खुद हरेन्द्र नाथ ने ट्वीट कर अपनी कहानी बयां की और लोगों से मदद मांगी। 82 साल के हरेन्द्र नाथ नगांव के रहने वाले हैं। उन्होंने ट्वीट कर रोज पिटाई करने वाले बेटे से बचाने की गुहार लगाई है। हालांकि उन्होंने अपने बेटे को पुलिस के हवाले नहीं करने का भी अनुरोध किया है।

 


 

 हरेन्द्र नाथ रिटायर स्कूल टीचर हैं। वे मधुमेह और दिल की बीमारी से पीडि़त हैं। उनकी पत्नी भी मधुमेह और हार्ट की मरीज है। बकौल हरेन्द्र नाथ, मैं मधुमेह, दिल की बीमारी से पीडि़त मरीज हूं, मेरी पत्नी भी मधुमेह और दिल की मरीज है। मेरा छोटा बेटा हमेशा मुझे पीटता है। वह मुझे लातें मारता है और चांटे भी लगाता है। वह मेरे बड़े बेटे को भी पीटता है। मेरा पूरा शरीर दर्द कर रहा है। कृपया मेरी मदद कीजिए ताकि मेरा बेटा मुझे ना पीट पाए।

 

 

 हरेन्द्र नाथ ने मीडिया घरानों और गैर सरकारी संगठनों को टैग करते हुए एक के बाद एक कई ट्वीट किए। इन ट्वीट्स के बाद सोशल मीडिया पर भूचाल सा आ गया। असम के वित्त मंत्री हिमंता बिस्व सरमा ने हरेन्द्र नाथ के ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा, मैं अपाके ट्वीट के आधार पर एफआईआर दर्ज करवा रहा हूं। हेल्प एज इंडिया नाम का एक एनजीओ भी हरेन्द्र नाथ की मदद के लिए आगे आया है। हालांकि हरेन्द्र नाथ अपने बेटे के खिलाफ कानूनी कार्रवाई नहीं चाहते। वह नहीं चाहते कि उनका बेटा परेशान हो। अगर उसे जेल में डाल दिया गया तो उसका करियर बर्बाद हो जाएगा।

 


 हरेन्द्र नाथ ने कहा, मैंने ट्वीट् इसलिए किए ताकि उनके 34 साल के बेटे को सबक मिले। वह ब्रिलियंट स्टूडेंट है। फिलहाल थोड़ा निराश है। योग्य होने के बावजूद उसे नौकरी नहीं मिली,इसलिए वह ऐसा बर्ताव कर रहा है। वह खुद बहुत दबाव में है क्योंकि हाल ही में उसकी शादी हुई है। उसकी शादी को 3 माह ही हुए हैं। हम उसकी पैसों से जितनी मदद कर सकते हैं कर रहे हैं लेकिन वह हिंसक हो जाता है। मैंने इसलिए ट्वीट किए ताकि कोई आगे आए और उसे समझाए।

 

 


वित्त मंत्री हिमंता बिस्वा सरमा के ट्वीट के बाद नगांव पुलिस हरेन्द्र नाथ के अमोलपट्टी स्थित घर पहुंची। पुलिस ने जब आरोपी ऋतुराज गयान को गिरफ्तार करना चाहा तो हरेन्द्र नाथ ने विरोध किया। हरेन्द्र नाथ ने कहा, ऋतुराज ने सभी के सामने मुझसे और पुलिस से माफी मांगी। उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया है और कसम खाई है कि वह दोबारा ऐसा कभी नहीं करेगा।