इस गणेश चतुर्थी घर लाइए इको फ्रेंडली बप्पा, Choclate फ्लेवर में भी उपलब्ध, यहां देखिए

Daily news network Posted: 2019-09-02 10:45:01 IST Updated: 2019-09-02 11:19:59 IST
इस गणेश चतुर्थी घर लाइए इको फ्रेंडली बप्पा, Choclate फ्लेवर में भी उपलब्ध, यहां देखिए
  • 02 सितंबर से लगातार 11 दिनो तक इस बार मनाई जा रही गणेश चतुर्थी पर घरों, पंडालों, बाजारों, देवालयों में इको फ्रेंडली चॉकलेट बप्पा और ट्री गणेशा विराज रहे हैं।

02 सितंबर से लगातार 11 दिनो तक इस बार मनाई जा रही गणेश चतुर्थी पर घरों, पंडालों, बाजारों, देवालयों में इको फ्रेंडली चॉकलेट बप्पा और ट्री गणेशा विराज रहे हैं। प्लॉस्टर ऑफ पेरिस से बने गणपति की मांग बाजार में चालीस फीसदी तक कम हो गई है। यहां मुंबई के ओम क्रिएशन ट्रस्ट की 56 दिव्यांग महिलाओं से लेकर महाराष्ट्र की जेलों में कैदियों तक ने पर्यावरण सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए गणेश की इको फ्रेंडली मूर्तियां रची हैं।


 ओम क्रिएशन ट्रस्ट की 56 दिव्यांग महिलाओं ने गणपति बप्पा की इको फ्रेंडली मूर्तियां बनाई हैं। इन महिलाओं ने 9-24 इंच तक की इको फ्रेंडली गणेश प्रतिमाएं बनाई हैं। विसर्जन के बाद इन मूर्तियों से तुलसी के पौधे उग जाएंगे।


 

 मंगलुरु के नितिन वाज ने भगवान गणेश की ऐसी मूर्ति बनाई है, जो पौधे में विकसित होती है। ये इको-फ्रेंडली मूर्ति पेपर-पल्प और बीजों से बनाई गई है। तमाम सामाजिक-सांस्कृतिक संगठनों की ओर से इस बार एहतियातन संदेश दिए जा रहे हैं कि पारंपरिक मूर्तियां जल प्रदूषण फैलाती हैं, इसलिए इको फ्रेंडली मूर्तियां पर्यावरण को सुरक्षित रखने मदद करती हैं।



 डूंगरपुर जिले में भी 10 दिवसीय गणेश महोत्सव को लेकर शहरों सहित गांव-गांव में गणेश भक्तों में उल्लास है। इस बार जिले की गेपसागर झील को घातक रसायनों से मुक्ति दिलाने के लिए शहर के विभिन्न गणेश मंडलों ने मिट्टी की गणेश प्रतिमाओं की पहल की है।


 बेक अमोर से यशिका अग्रवाल द्वारा चॉकलेट मॉडलिंग के साथ बनाई गई गणेश प्रतिमाएं पूरी तरह से इडेबल और इको फ्रेंडली हैं। इसे आसानी से दूध में विसर्जित कर प्रसाद के रूप में लिया जा सकता है। इतना ही नहीं, इससे पर्यावरण को भी किसी तरह का नुकसान नहीं पहुंचता है। ये सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद हैं। इन गणेश प्रतिमाओं में ब्लैक-व्हाइट चॉकलेट का इस्तेमाल किया गया है। इसे डेकोरेट करने के लिए सुगर बॉल्स का इस्तेमाल किया हुआ है। प्रतिमा को कलर फुल बनाने के लिए चॉकलेट में ईडेबल कलर मिक्स किए गए हैं।