कोरोना वायरस पर आई चौंकाने वाली खबर, ऐसा वक्त आते ही अपने आप हो जाएगा खत्म

Trending Now

नोवेल कोरोनावायरस पर कंट्रोल करने के लिए विश्व समुदाय प्रभावी समाधान खोजने में लगातार जुटा हुआ है।

नई दिल्ली

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने इस महीने की शुरुआत में कहा था कि कोरोनावायरस अप्रैल में खत्म हो जाएगा। उन्होंने इसके पीछ ये तर्क भी दिया था कि गर्मी में इस तरह के वायरस मर जाते हैं।

वहीं दूसरी ओर फोर्टिस हास्पिटल के डिपार्टमेंट ऑफ पल्मोनोलॉजी एंड स्लीप डिसऑर्डर के निदेशक और प्रमुख विकास मौर्या ने कहा है कि नोवेल कोरोनोवायरस एक जंगली जानवर से आया हुआ संक्रामक है, जो सर्दियों में होता है और सांस से जुड़ा हुआ है।

उन्होंने बताया कि हमें एक साल में कम से कम दो बार एक वायरल संक्रमण होता है। अंतर यह है कि कोरोनावायरस का यह स्ट्रेन एक प्रतिरोधी स्ट्रेन है। उन्होंने उम्मीद जताई है कि गर्मियों तक इस स्ट्रेन में कमी आएगी। आपको बता दें कि चीन में कोरोना वायरस के कहर से मरने वालों की संख्या 2200 को पार कर गई है। 1 या 2 नहीं बल्कि 22 देशों से इसके संदिग्ध मामले सामाने आ चुके हैं। बात करें भारत की तो भारत में भी अब तक इसके तीन मामले सामने आ चुके हैं।

स्वास्थ्य अधिकारियों के लिए इसे फैलने से रोकना एक बड़ी चुनौती बन गई है। हालांकि,चीन इसे रोकने के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रहा है। दुनिया भर में कोरोना वायरस के केस लगातार सामने आने के बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी डब्लूएचओ ने कोरोना वायरस को अंतर्राष्ट्रीय आपातकाल घोषित कर दिया है।

आइए जानते हैं क्या है कोरोना वायरस....

कोरोना वायरस का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है, जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है। इस वायरस का संक्रमण दिसंबर में चीन के वुहान में शुरू हुआ था। इससे पहले इस वायरस को कभी नहीं देखा गया है। डब्लूएचओ के मुताबिक, बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ इसके लक्षण हैं। परेशानी की बात ये है कि अब तक इस वायरस को फैलने से रोकने वाला कोई टीका नहीं बनाया जा सका है।


अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360

Top News

Tending Now