खुशखबरीः देश के 50 करोड़ लोगों को कल से मिलेगा 5 लाख का स्वास्थ्य बीमा

Daily news network Posted: 2018-03-31 10:55:32 IST Updated: 2018-03-31 11:22:53 IST
खुशखबरीः देश के 50 करोड़ लोगों को कल से मिलेगा 5 लाख का स्वास्थ्य बीमा
  • नए वित्त वर्ष की शुरूआत एक अप्रैल से हाे रही है। वित्त वर्ष की शुरूआत के साथ ही आयकर, बीमा, बैंकिंग और जीएसटी के क्षेत्र में कई बड़े बदलाव हो रहे हैं।

नर्इ दिल्ली।

नए वित्त वर्ष की शुरूआत एक अप्रैल से हाे रही है। वित्त वर्ष की शुरूआत के साथ ही आयकर, बीमा, बैंकिंग और जीएसटी के क्षेत्र में कई बड़े बदलाव हो रहे हैं। इनमें सबसे बड़ा बदलाव देश के 50 करोड़ गरीब परिवारों को मिलने वाला 5 लाख रुपये तक स्वास्थ्य बीमा है। यह योजना एक अप्रैल से ही शुरू हो रही है। इसका फायदा देश के आम लोगों को ही होगा। इस स्वास्थ्य बीमा योजना को कैबिनेट ने 'आयुष्मान भारत' नाम दिया है। तो आइए जानते हैं 'आयुष्मान भारत' में होने जा रहे बदलावों के बारे में-

 



 आयुष्मान योजना का लाभ

 इस योजना के तहत 5 लाख रुपये तक का बीमा प्रत्येक परिवार को मिलेगा। इस योजना में अस्पताल में भर्ती होने से पहले और बाद का खर्च भी शामिल होगा। 10.74 करोड़ परिवारों को इस योजना का लाभ मिलेगा। स्कीम के तहत पैनल में शामिल देश के किसी भी सरकारी या प्राइवेट अस्पताल में कैशलेस इलाज कराया जा सकेगा। योजना का अनुमानित लागत 12,000 करोड़ रुपये  है।

  


 मानक कटौती


40,000 रुपये की मानक कटौती का लाभ मिलेगा वेतन भोगियों को मिलेगा।19,200 का परिवहन भत्ता और 15,000 रुपये के मेडिकल भत्ते की सुविधा वापस ली गई।

 



बीमा पॉलिसी में ज्यादा छूट


दो साल के बीमा कवर के लिए 40,000 रुपये देने पर 10 फीसदी छूट मिलेगी। दोनों साल 20-20 हजार की कर छूट का दावा भी कर सकते हैं।

 


 इलाज खर्च पर टैक्स में राहत

1 लाख की गई गंभीर बीमारियों पर मिलने वाली टैक्स छूट पर मिलेगी। साथ ही वर्तमान में 80 से ज्यादा उम्र के बुजुर्गों के लिए ये छूट 80,000 रुपये है। 60-80 साल वरिष्ठ नागरिकों के लिए ये सीमा 60,000 रुपये हैं।

 


 वरिष्ठ नागरिकों को ज्यादा छूट


स्वास्थ्य बीमा प्रीमियर और आम मेडिकल खर्च पर 50,000 रुपये टैक्स छूट की सीमा की गई है। बता दें कि पहले यह सीमा सेक्शन 80डी के तहत 30,000 रुपये थी।

 



वरिष्ठ नागरिकों को ब्याज में कर राहत


- जमा पर मिलने वाला ब्याज टैक्स फ्री

 - 5 गुना बढ़ाकर 50,000 रुपये की गई जमा से प्राप्त आय पर टैक्स छूट की सीमा

 - प्रधानमंत्री वय वंदना योजना में जमा की सीमा बढ़ी

 -15 लाख रुपये की गई निवेश की सीमा प्रधानमंत्री वय वंदना योजना के तहत

 -7.5 लाख रुपये थी पहले यह सीमा

 -2020 तक किया गया योजना का विस्तार

 

 


 एनपीएस से आम लोग भी निकाल सकेंगे पैसे

गैर कर्मचारी वर्ग को नेशनल पेंशन स्कीम में जमा रकम निकालने पर टैक्स छूट का लाभ भी मिलेगा।

  

 


डाकघर पेंमेट बैंक बनेंगे

 

 1.55 लाख डाकघर देशभर के पेमेंट बैंक के रूप में भी सेवाएं देंगे । जहां आप 1 लाख रुपये तक का बचत खाता खोल सकेंगे। 25,000 तक की जमा राशि पर 5.5% ब्याज, चालू खाता और थर्ड पार्टी इंश्योरेंस जैसी सुविधाएं मिलेंगी। इसके साथ ही पोस्ट मैन और ग्रामीण डाक सेवक शहरी और ग्रामीण इलाकों में डिजिटल भुगतान सेवा पहुंचाएंगे।

 


 स्टेट बैंक ने जुर्माना घटाया

  बचत खाते में पर्याप्त राशि नहीं रखने पर लगने वाला जुर्माना 75% तक घटाया गया। अब किसी भी खाताधारक पर 15 रुपये और जीएसटी से ज्यादा जुर्माना नहीं लगेगा।

 

 


 ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना आसान होगा

 

लर्निंग डीएल, नया डीएल, डीएल के नवीनीकरण, नाम-पता बदलने के लिए अलग-अलग फार्म भरने के बजाए सिर्फ फार्म-2 भरना होगा। जटिलता समाप्त करने के लिए केंद्र सरकार मोटर वाहन अधिनियम में संशोधन किया गया है। इसमें सड़क हादसे में मृत्यु होने पर अंगदान करने का प्रावधान है।

 


कार-बाइक का बीमा सस्ती

 1,000 सीसी से कम इंजन क्षमता वाली कार के लिए प्रीमियम 10 फीसदी सस्ता होगा। 75 सीसी से कम इंजन क्षमता वाली बाइक का प्रीमियम 25 फीसदी तक सस्ता होगा।

 


महंगा

 350 सीसी से ज्यादा इंजन की क्षमता (सुपर बाइक्स) पर प्रीमियम दोगुना। 150-350 सीसी की बाइक्स के लिए भी प्रीमियम 887 रुपये से बढ़कार 985 रुपये किया। 

 

 


 ‘लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन’

 एक साल से ज्यादा रखे शेयरों को बेचने से होने वाली कमाई पर 10% टैक्स देना होगा।

 

 


उपकर में बढ़ोतरी


स्वास्थ्य शिक्षा में उपकर में 3 से 4 फीसदी बढ़ोतरी।