इस झील में जो गया, बन गया पत्थर, घूमे जरा संभलकर

Daily news network Posted: 2018-11-04 19:23:45 IST Updated: 2018-11-04 21:44:32 IST
  • आपने अपने बचपन में वो राजा वाली कहानी तो जरूर सुनी होगी जिसको एक वरदान मिलता है कि वो जिस चीज को छुएगा वह सोने की हो जाएगी। लेकिन वो तो एक कहानी थी। क्या असली में ऐसा हो सकता हैं।

आपने अपने बचपन में वो राजा वाली कहानी तो जरूर सुनी होगी जिसको एक वरदान मिलता है कि वो जिस चीज को छुएगा वह सोने की हो जाएगी। लेकिन वो तो एक कहानी थी। क्या असली में ऐसा हो सकता हैं। जी हा, ऐसा बिलकुल हुआ हैं। बस यहा राजा की जगह यह ताकत एक झील में हैं और चीजें सोने की जगह पत्थर की हो जाती हैं। उस झील का नाम हैं लेक नेट्रान (Lake Natron) जो कि उत्तरी तंजानिया में स्थित हैं। 


 

झील के किनारे जगह-जगह पशु-पक्षियों के स्टैच्यू नजर आते हैं। स्टैच्यू असली मृत पक्षियों के हैं। दरअसल झील के पानी में जाने वाले जानवर और पशु-पक्षी कुछ ही देर में कैल्सिफाइड होकर पत्थर बन जाते हैं।

 


दरअसल, पानी में नमक और सोडा की मात्रा बहुत ही जयादा है, इतनी जयादा की कुछ भी गिरने पर कुछ ही सेकंड में जम जाता है। पानी में सोडा और नमक की ज्यादा मात्रा इन पक्षियों के मृत शरीर को सुरक्षित रखती है।

 


पानी में अल्कलाइन का स्तर पीएच 9 से पीएच 10 है, यानी अमोनिया जितना अल्कलाइन। लेक का तापमान भी 60 डिग्री तक पहुंच जाता है। पानी में वह तत्व भी पाया गया जो ज्वालामुखी की राख में होता है। इस तत्व का प्रयोग मिस्रवासी ममियों को सुरक्षित करने के लिए रखते थे। इसलिए इस नजारे को देखने के लिए जब भी जाएं। उस समय सावधानी बरते। ताकि आप सुरक्षित रहते हुए इन नजारों को अपने जेहन में कैद कर सकें।