भारत के इस किले से नजर आता है पूरा Pakistan, देश-विदेश से आते हैं पर्यटक

Daily news network Posted: 2019-01-30 15:51:35 IST Updated: 2019-02-03 19:13:53 IST
  • आज हम आपको हमारे देश के एक ऐसे किले के बारे में बताने जा रहे है जहां से पुरा पाकिस्तान नजर आता है। भारत पाकिस्तान के बंटवारे के समय इस किले पर पाकिस्तान की नजर थी लेकिन कई कोशिशे करने के बाद भी पाकिस्तान नाकाम रहा।

आज हम आपको हमारे देश के एक ऐसे किले के बारे में बताने जा रहे है जहां से पुरा पाकिस्तान नजर आता है। भारत पाकिस्तान के बंटवारे के समय इस किले पर पाकिस्तान की नजर थी लेकिन कई कोशिशे करने के बाद भी पाकिस्तान नाकाम रहा।

 

 


हम बात कर रहे है राजस्थान में स्थित मेहरागढ़न किले की जो जोधपूर में स्थित है। पन्द्रहवीं शताब्दी का यह विशालकाय किला, पथरीली पहाड़ी पर 125 मीटर ऊंचाई पर निर्मित है। जो कुतुबमीनार से भी ऊंचा है। 500 साल पुराने इस किले से पूरा पाकिस्तान दिखता है। 1965 में भारत पाकिस्थान के युद्ध में इस किले को निशाना बनाया गया था।

 


  

 जोधपुर के शासक राव जोधा ने 12 मई 1459 में इस किले की नींव डाली और महाराज जसवंत सिंह ने इसको पूरा किया।इस किले की दिवार की लंबाई 10 किलोमीटर तक फैली है। इनकी ऊंचाई 20 फुट से 120 फुट तथा चौड़ाई 12 फुट से 70 फुट तक है। इसमें दुर्गम रास्तों वाले सात आरक्षित दुर्ग बने हुए थे। घुमावदार सड़कों से जुड़े इस किले के चार द्वार हैं। किले के अंदर कई भव्य महल, अद्भुत नक्काशीदार दरवाजे, जालीदार खिड़कियां हैं।

 


 

 राव जोधा ने 1460 में मेहरानगढ़ किले के पास चामुंडा माता का मंदिर बनवाया और मूर्ति की स्थापना की।माना जाता है कि माता के आशीर्वाद से 1965 में पाकिस्तान के हमले में कोई भी इस किले को नहीं छु पाया था।