स्टार स्पोर्ट्स ने दी 'खेलो इंडिया' को मजबूती, नॉर्थ ईस्ट के कई बच्चों थे शामिल

Daily news network Posted: 2018-02-13 08:49:12 IST Updated: 2018-02-13 08:49:12 IST
स्टार स्पोर्ट्स ने दी 'खेलो इंडिया' को मजबूती, नॉर्थ ईस्ट के कई बच्चों थे शामिल
  • प्रसारणकर्ता स्टार स्पोर्ट्स नेटवर्क ने देश में खेलों के क्षेत्र में एक नई क्रांति लाने के लिए खेल मंत्रालय के साथ मिलकर खेलों इंडिया के रूप में जो खेल विकास कार्यक्रम की शुरूआत की उससे निसार अहमद जैसे युवा धावकों को अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिला है।

प्रसारणकर्ता स्टार स्पोर्ट्स नेटवर्क ने देश में खेलों के क्षेत्र में एक नई क्रांति लाने के लिए खेल मंत्रालय के साथ मिलकर खेलों इंडिया के रूप में जो खेल विकास कार्यक्रम की शुरूआत की उससे निसार अहमद जैसे युवा धावकों को अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिला है।

 


 राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में इस वर्ष 31 जनवरी से आठ फरवरी तक हुए पहले खेलो इंडिसा स्कूल गेम्स में 35 राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों के करीब 3750 से अधिक युवा खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया। जिसमें नॉर्थ ईस्ट के कई खिलाड़ी शामिल थे। स्टार स्पोर्ट्स ने इन खेलों का प्रसारण किया था। निसार ने जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में 100 मीटर की दौड़ को 10.76 सेकंड के समय साथ पूरा किया था और स्वर्ण पदक अपने नाम किया था।

 

 

 मोदी सरकार की बहुचर्चित परियोजना खेलो इंडिया के पहले संस्करण का समापन 8 फरवरी को हो गया। लेकिन इससे पहले ही इसको लेकर कई तरह के सवाल खड़े होने लगे। केंद्र सरकार ने 'खेलो इंडिया' के नाम से एक योजना को मंजूरी दी है, जिसके तहत 1,000 चयनित एथलीटों में से प्रत्येक को 8 साल के लिए 5 लाख रुपये की वार्षिक छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी। छात्रवृत्ति का प्रावधान इसलिए किया गया है, ताकि पढ़ाई करने वाले बच्चे पेशेवर खेलों को भी कैरियर विकल्प के तौर पर चुन सकें।

 


 लड़कियों के वर्ग में सभी वाइल्ड कार्ड एंट्री पूर्वोत्तर राज्यों से हुई है। जिसमें शेजल जोशी, शीतल जोशी, सोनल जोशी (मेघालय), ताकु नेहा, नापी तायम (अरुणाचल प्रदेश) और सबीना खड़गा (सिक्किम) थीं। लड़कों के मामले में भी 6 वाइल्ड कार्ड एंट्री में से पांच पूर्वोत्तर राज्यों से हुईं- शुभांशु तिवारी, ला टाकुम, सूरज चेत्री (अरुणाचल प्रदेश), जॉर्ज खेरबानी (मेघालय) और एंड्रयू लॉटजेन (मणिपुर) से थे।


 यूसेन बोल्ट की अकादमी में चुने जाने वाले निसार ने इस दौड़ में सबसे तेज एथलीट होने का गौरव प्राप्त किया था। निसार की मां ने कहा था, 'जब मैंने अपने बेटे की उपलब्धि के बारे में सुना तो मैं आप को बता नहीं सकती कि मैं किस तरह की खुशी महसूस कर थी। हमारी परिस्थितियां कैसी भी रही हो, हमने हमेशा अपने बेटे को सपोर्ट किया है। खुशियां बयां करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं है।'


 स्टार इंडिया के प्रबंध निदेशक संजय गुप्ता ने इस नई शुरुआत के बारे में कहा, 'हमारे लिए यह सम्मान की बात है हमने खेलो इंडिया का प्रसारण किया और करोड़ों लोगों तक अपनी पहुंच बनाई। खेलो इंडिया का प्रसारण होने से निसार जैसे ही कई खिलाड़यिों के माता-पिता और कोच अपने बच्चों और खिलाड़यिों से प्रभावित हुए।'