मैरी कॉम का गोल्डन पंच, सोशल मीडिया पर शुभकामनाओं की हुई बरसात

Daily news network Posted: 2018-04-14 11:30:28 IST Updated: 2018-04-14 17:42:40 IST
  • मैरी कॉम ने 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के 10वें दिन शनिवार को महिला मुक्केबाजी की 45-48 किलोग्राम भारवर्ग के स्पर्धा का स्वर्ण अपने नाम कर लिया है

गोल्ड कोस्ट।

मैरी कॉम ने 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के 10वें दिन शनिवार को महिला मुक्केबाजी की 45-48 किलोग्राम भारवर्ग के स्पर्धा का स्वर्ण अपने नाम कर लिया है। इस दिग्गज मुक्केबाज ने फाइनल में इंग्लैंड की क्रिस्टिना ओ हारा को 5-0 से मात देकर पहली बार राष्ट्रमंडल खेलों में पदक हासिल किया। लंदन ओलिंपिक 2012 में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली मैरी कॉम कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला बॉक्सर बन गई हैं। आपको बता दें कि मैरीकॉम मणिपुर की रहने वाली हैं। वहीं मैरी कॉम की जीत के बार सोशल मीडिया पर बधाईयों की सिलसिला शुरु हो चुका है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ-साथ पूर्वोत्तर राज्यों के कई नेताओं ने मैरी कॉम को बधाई दी है।


 

भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने ट्वीट कर भारतीय बॉक्सर को बधाई दी। उन्होंने लिखा कि मैरी कॉम आपको बधाई हो। आप मणिपुर और भारत की आइकन हैं। हर पंच के साथ आप हमें गौरवान्वित करती हैं। वहीं, वीरेंदर सहवाग ने लिखा मैरी कॉम आपको बधाइयां। आप हमारी प्रेरणा स्त्रोत हैं। वहीं दूसरी तरफ मैरी कॉम ने ट्वीट कर इस गोल्ड मैडल को अपने तीनों बेटों रेचुन्वर, खुपेनवीर और प्रिंस को समर्पित किया। उन्होंने लिखा कि बच्चे फोन करके पूछ रहे हैं कि ममा, आप कब आओगे। इसके साथ ही मैरी कॉम ने अपने कोच और सपोर्टिंग स्टॉप सहित कई लोगों को उन पर विश्वास जताने के लिए धन्यवाद दिया। अंत में उन्होंने हैशटैग के साथ लिखा कि, पंच में है दम। 



 

- मणिपुर के मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर मैरी कॉम को बधाई देते हुए लिखा कि आपने एक बार फिर कर दिखाया। देश को आप पर गर्व है। हम सभी को आप पर गर्व है। कॉमनवैल्थ में गोल्ड जीतने के लिए फिर से बधाई।

 


- असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने लिखा कि आपने एक बार फिर कर दिखाया। नए साल और बिहू के मौके पर इससे बड़ा तोहफा कोई नहीं हो सकता है। आपके पंचों ने देश का मान बढ़ाया है।

 



- अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने ट्वीट कर लिखा कि मैरी कॉम को बधाई। आपने हमें फिर से गर्व करने का मौका दिया।

 



इसके साथ ही मेघालय के मुख्यमंत्री कोनरॉड संगमा, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजु, राज्यमंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह और खेल राज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह सहित कई नेताओं ने मैरी कॉम को गोल्ड जीतने पर बधाई दी। सभी ने लिखा कि हमें मैरी कॉम पर  गर्व है। उन्होंने खेलों की दुनिया में देश का मान बढ़ाया है। 

 

 

बता दें कि मैरी कॉम ने पहले राउंड में सब्र दिखाया और मौकों का इंतजार किया। उन्हें मौके भी मिले, जिसे उन्होंने अपने पंचों से बखूबी भुनाया। मैरी कॉम अपने बाएं जैब का अच्छा इस्तेमाल कर रही थीं। मैरी कॉम धीरे-धीरे आक्रामक हो रही थीं। दूसरे राउंड में मैरी कॉम ने अपना अंदाज जारी रखा। वहीं क्रिस्टिना कोशिश तो कर रहीं थी, लेकिन उनके पंच चूक रहे थे। वहीं मैरी कॉम मुकबला आगे बढऩे के साथ और आक्रामक हो गईं और अब जैब के साथ अपने लेफ्ट हुक का भी अच्छा इस्तेमाल कर रही थीं। अब वह अपने फुटवर्क का अच्छा इस्तेमाल करते हुए क्रिस्टिना पर दबाव बनाए हुए थीं। तीसरे और अंतिम राउंड में क्रिस्टिना भी आक्रामक हो गई थीं और पांच बार की विश्व चैम्पियन को अच्छी टक्कर दे रही थीं, लेकिन मैरी कॉम ने अपना डिफेंस भी मजबूत रखते हुए जीत हासिल की। ओहारा के पास मैरीकॉम के दमदार पंच और फिटनेस का जवाब नहीं था। मैरीकॉम ने मुकाबले को लगभग एकतरफा बना दिया। 5 महीने पहले एशियाई चैंपियनशिप में स्वर्ण जीतने वाली मैरीकॉम ने जनवरी में इंडिया ओपन जीता था। उन्होंने बुल्गारिया में स्ट्रांजा मेमोरियल टूर्नमेंट में भी रजत पदक जीता था।