Commonwealth Games: भारत ने मलेशिया को 2-1 से हराया, सेमीफाइनल का कटवाया टिकट

Daily news network Posted: 2018-04-10 11:49:55 IST Updated: 2018-04-10 11:49:55 IST
Commonwealth Games: भारत ने मलेशिया को 2-1 से हराया, सेमीफाइनल का कटवाया टिकट
  • भारतीय पुरूष हॉकी टीम ने मंगलवार को पूल बी मैच में मलेशिया की मुश्किल चुनौती को 2-1 से काबू करते हुए यहां राष्ट्रमंडल खेलों के सेमीफाइनल में स्थान पक्का कर लिया

गोल्ड कोस्ट।

भारतीय पुरूष हॉकी टीम ने मंगलवार को पूल बी मैच में मलेशिया की मुश्किल चुनौती को 2-1 से काबू करते हुए यहां राष्ट्रमंडल खेलों के सेमीफाइनल में स्थान पक्का कर लिया। कप्तान मनप्रीत के नेतृत्व में भारतीय पुरूष टीम ने यहां क्वार्टरफाइनल मैच में अच्छी शुरूआत की और हरमनप्रीत सिंह ने तीसरे और 44वें मिनट में पेनल्टी कार्नर को भुनाते हुये भारत के लिये दो विजयी गोल दागे। मलेशिया के लिये फैजल सारी ने 16वें मिनट में गोल कर हार के अंतर को कम किया। बता दें कि भारतीय हॉकी टीम में कई खिलाड़ी पूर्वोत्तर राज्यों के भी हैं।

 

 

अब इंग्लैंड से  भिड़ेगी भारतीय टीम

भारत का पूल बी में अगला मैच इंग्लैंड से होना है जो यह निर्धारित करेगा कि वह पूल में पहले पायदान पर रहेगा या दूसरे स्थान पर। इस जीत के बाद भारत फिलहाल तीन मैचों में सात अंक लेकर शीर्ष पर बनी हुई है। दोनों ग्रुप से शीर्ष दो टीमों को सेमीफाइनल में जगह मिलेगी। भारत ने अपने उद्घाटन मैच में पाकिस्तान के खिलाफ बढ़त के बावजूद 2-2 से ड्रा खेला था, लेकिन उसके बाद उसने उस गलती को नहीं दोहराया और पूर्व ओलंपिक चैंपियन वेल्स के खिलाफ 4-3 से जीत दर्ज की। मलेशिया के खिलाफ मैच में भी टीम ने आक्रामकता के साथ शुरूआत की और हरमनप्रीत ने तीसरे मिनट में ही मिले पहले पेनल्टी कार्नर पर गोल कर भारत को 1-0 की बढ़त दिला दी। 

 

 


मलेशिया की तरफ से फैजल ने किया एकमात्र गोल

भारतीय पुरूष टीम ने इसके बाद गेंद को काफी समय तक अपने कब्जे में रखा और मलेशियाई टीम को बराबरी से रोके रखा। मलेशिया ने जवाबी हमला जारी रखा और पहले क्वार्टर में असफल रहने के बाद दूसरे क्वार्टर की शुरूआत में ही उसने बराबरी का गोल कर स्कोर 1-1 पहुंचा दिया। अनुभवी मलेशियाई खिलाड़ी फैजल ने भारतीय डिफेंडरों को छकाते हुये 16वें मिनट में अपनी टीम के लिये गोल किया। फैजल ने गेंद को काफी अच्छे से नियंत्रित किया, जिसे भारतीय गोलकीपर पी आर श्रीजेश भी रोक नहीं सके। 

 

 


हरमनप्रीत ने मुकाबले में दिलाई बढ़त

हालांकि इसके बाद काफी समय तक भारत ने गेंद को अपने कब्जे में रखने में सफलता पायी। हालांकि भारतीय टीम ने सात पेनल्टी कार्नर बेकार किये जो काफी निराशाजनक रहा, लेकिन हरमनप्रीत ने तीसरे क्वार्टर के आखिरी में 44वें मिनट में हाथ आये पेनल्टी कार्नर पर गोल दाग फिर से भारत को 2-1 से आगे कर दिया। चौथे क्वार्टर में मलेशिया ने फिर से जवाबी हमले किये लेकिन भारतीय डिफेंस के सामने वह बराबरी का गोल नहीं पा सकी और मैच के आखिरी चंद मिनटों में दोनों टीमों के बीच कड़े मुकाबले के बावजूद फैसला भारत के पक्ष में गया।