ड्रग एडिक्ट क्रिकेटर ने किया सुसाइड, कुछ दिनों से मानसिक रूप से था परेशान

Daily news network Posted: 2018-09-12 16:44:25 IST Updated: 2018-09-12 16:44:25 IST
ड्रग एडिक्ट क्रिकेटर ने किया सुसाइड, कुछ दिनों से मानसिक रूप से था परेशान
  • असम के कामरूप जिले के रंगेस्वरी नागरबेड़ा गांव के रहने वाले 28 साल के हफीजुर ने आत्महत्या कर ली। हफीजुर प्रतिभाशाली क्रिकेटर था।

गुवाहाटी/नर्इ दिल्ली

असम के कामरूप जिले के रंगेस्वरी नागरबेड़ा गांव के रहने वाले 28 साल के हफीजुर ने आत्महत्या कर ली। हफीजुर प्रतिभाशाली क्रिकेटर था। इलाके के लोगों का मानना था कि आने वाले समय में हफीजुर एक पाॅपुलर क्रिकेटर बनने वाला था। लेकिन उससे पहले ही मंगलवार को हफीजुर ने जहरीला पदार्थ खाकर अपनी जान दे दी।

 

बता दें कि हफीजुर ड्रग एडिक्ट था आैर वह अपनी यह लत को नहीं छुड़ा पाया आैर अपनी जान दे दी। उसके परिवार वालों का कहना है कि उसके साथ के काम कर रहे लोगों के दवाब में आकर हफीजुर ने आत्महत्या की है।

 


 हफीजुर एक प्रतिभाशाली खिलाड़ी था। वह मुकुता क्लब से क्रिकेट खेलता था। हफीजुर जिला स्तर पर वॉलीबॉल भी खेल चुका था इसके साथ ही वह एक फुटबाॅल खिलाड़ी भी था। एक स्थानीय युवक ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से वह मानसिक रूप से परेशान था आैर मंगलवार को उसने जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली। साथ ही उसने बताया कि वह अपनी ड्रग एडिक्शन छुड़ाने की काेशिश कर रहा था।

 


 हफीजुर के रिश्तेदार ने बताया कि वह एक अच्छा इंसान था लेकिन दुर्भाग्य से गलत लोगों की संगति में आकर उसने नशीली दवाआें का सेवन शुरू कर दिया था। पिछले कुछ दिनों से वह पूरी तरह बदल गया था।

 

 

 स्थानीय लोगों ने दावा किया है कि पिछले दो सालों में तुपामारी आैर नगरबेड़ा में नशीली दवाआें की लत के कारण कुल पांच लोगों की मौत हुर्इ है। यह क्षेत्र नशीली दवाआें के व्यापार का केंद्र बन गया है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि तुपमारी पुलिस स्टेशन की पुलिस भी युवाआें के बीच बढ़ती नशे की लत पर ध्यान नहीं दे रही हैं। यहां तक की सातवी आैर आठवीं में पढ़ रहे बच्चे भी इन नशीली दवाआें का शिकार बन रहे है।