बुरे फंसे सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश, यौन शोषण का आरोप लगाने वाले महिला ने कही ऐसी बात

Daily news network Posted: 2019-05-08 12:39:13 IST Updated: 2019-05-08 12:43:14 IST
बुरे फंसे सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश, यौन शोषण का आरोप लगाने वाले महिला ने कही ऐसी बात
  • सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई के खिलाफ यौन शोषण का आरोप लगाने वाली सुप्रीम कोर्ट की पूर्व कर्मी महिला ने कहा है कि सीजेआई को क्लीन चिट देने वाली रिपोर्ट पाना उसका अधिकार है।

नई दिल्ली

सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई के खिलाफ यौन शोषण का आरोप लगाने वाली सुप्रीम कोर्ट की पूर्व कर्मी महिला ने कहा है कि सीजेआई को क्लीन चिट देने वाली रिपोर्ट पाना उसका अधिकार है। महिला ने इस मामले में सुप्रीम कोर्ट की उस रिपोर्ट की प्रति मांगी है, जिसमें सीजेआई गोगोई को निर्दोष करार दिया गया है। वहीं, इस मामले में अब पूर्व सूचना आयुक्त श्रीधर ने भी महिला के समर्थन में बयान दिया है। उन्होंने सीजेआई गोगोई को क्लीन चिट देने वाली रिपोर्ट को सार्वजनिक किए जाने की बात कही है।

 

 


पूर्व सूचना आयुक्त ने उच्चतम न्यायालय की आंतरिक जांच समिति की उस रिपोर्ट को सार्वजनिक करने की हिमायत की है, जिसमे शीर्ष न्यायालय की एक पूर्व महिला कर्मचारी द्वारा प्रधान न्यायाधीश के खिलाफ लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच के निष्कर्ष हैं। उन्होंने कहा कि जांच के निष्कर्षों को सार्वजनिक नहीं करने का कोई कारण या कानूनी अधिकार नहीं लगता है। उन्होंने कहा कि देश के लोगों को पता चलना चाहिए कि आंतरिक जांच समिति ने किस आधार पर महिला के आरोपों को बेदम करार दिया है और सीजेआई को क्लीन चिट दी है।

 

 


इसी के साथ ही उन्होंने कहा कि सीजेआई और अन्य विशिष्टजनों के मुताबिक इन आरोपों के पीछे बड़ी साजिश हैं। उन्होंने कहा कि जनहित में लोगों को जानने का अधिकार है। अगर यह लगता है कि खासकर यौन उत्पीड़न की शिकायतों के विवरण सार्वजनिक नहीं किए जा सकते तो संपादित कर रिपोर्ट सार्वजनिक की जानी चाहिए।