भारत के सबसे अनोखे सीटी वाले गांव ने प्रधानमंत्री मोदी के लिए ऐसा काम

Daily news network Posted: 2019-08-17 12:04:33 IST Updated: 2019-08-17 12:04:33 IST
भारत के सबसे अनोखे सीटी वाले गांव ने प्रधानमंत्री मोदी के लिए ऐसा काम

बच्चों के नामों को सुरों से साधने की अपनी अनूठी विरासत के बाद मेघालय का कोंगथांग गांव  फिर एक बार सुर्खिंयों में है। इस बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रित करने के लिए एक सुर का सृजन  किया गया है। भाजपा के राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा के दौरे के दौरान यह सुर सृजित किया गया है। स्थानीय गांववालों ने प्रधानमंत्री के आमंत्रण के लिए तैयार किए गए सुर को सांसद सिन्हा के हाथों सौंपा ताकि इसे प्रधानमंत्री कार्यालय को भेजा जा सके।


 

मां स्वर में गाकर बुलाती है 

मेघालय की राजधानी शिलांग से 56 किमी दूर है यह कोंगथांग गांव। इसे सीटी या गानेवाले गांव  के रुप में भी जाना जाता है। अति प्राचीन समय से इस गांव की माताएं अपने बच्चों के लिए अनूठा सुर कंपोज  करती है, जिसे स्थानीय भाषा में जिंगरवई आइयावेबेई कहा जाता है। हर बच्चे के लिए अलग स्वर होता है। माताएं जब स्वर में गाती हैं, तब बच्चे को पता चल जाता है कि उसकी मां उसे आवाज दे रही है।

 

 


यह गांव ईस्ट खासी हिल्स जिले के सोहरा जाने के दौरान खाट-अर-शोनंग इलाके में पड़ता है। इसमें 125 घर हैं और इसकी गांव की कुल जनसंख्या 650 है। गौरतलब है कि सांसद सिन्हा ने राज्यसभा में इस गांव की अनूठी परम्परा का जिक्र करते हुए कोंगथांग गांव को यूनेस्को की इनटेनजिबल कल्चरल हैरिटेज सूची में शामिल करवाने की मांग की थी।