पंचायत चुनावः मतदाताओं ने कांग्रेस आैर एआईयूडीएफ का नकारा, भाजपा को मिलेगी जीत

Daily news network Posted: 2018-12-06 12:12:37 IST Updated: 2018-12-07 08:22:41 IST
पंचायत चुनावः मतदाताओं ने कांग्रेस आैर एआईयूडीएफ का नकारा, भाजपा को मिलेगी जीत
  • असम प्रदेश भाजपा महासचिव दिलीप सैकिया ने कहा कि पंचायत चुनाव में कांग्रेस आैर एआर्इयूडीएफ को जनता ने नकार दिया है।

गुवाहाटी।

असम प्रदेश भाजपा महासचिव दिलीप सैकिया ने कहा कि पंचायत चुनाव में कांग्रेस आैर एआर्इयूडीएफ को जनता ने नकार दिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा काे उम्मीद से बेहतर परिणाम मिलेगा आैर अगप की स्थिति काफी खराब होगी।

 

 


भाजपा महासचिव ने बताया कि चुनाव के बाद कार्यकर्ताआें से मिली सूचना उत्साहित करने वाली है आैर उससे यह साफ होता है कि प्रदेश की जनता पंचायती राज व्यवस्था भाजपा के हाथ सौपने जा रही है। उन्होंने कहा कि दूसरा चरण भाजपा के लिए ज्यादा अनुकूल होगा आैर मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल के भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान के आगे सभी दल पुचायत चुनाव में चित हो जाएंगे।

 


सैकिया ने बताया कि भ्रष्टाचार मुक्त पंचायतीराज आैर विकसित ग्राम्य अंचल के नारे को विकास के लिए तरस रहे गांव के लोगों ने स्वीकार कर लिया है आैर कांग्रेस के शासनकाल में हुए भ्रष्टाचार के लिए जनता सबक सिखाने जा रही है। वहीं असम गण परिषद के लिए लोगों में नाराजगी है, जिसका खामियाजा पार्टी को भुगतना पड़ेगा।

 

 


 बता दें कि असम के 16 जिलों में बुधवार को पंचायत चुनाव के लिए पहले चरण का मददान संपन्न हुआ। राज्य में करीब 65 फीसदी लोगों ने अपने मतधिकार का इस्तेमाल है। लेकिन यह आंकड़ा बढ़ सकता है। आयुक्त का कहना है कि मतदान प्रतिशत में 10 फीसदी तक की बढ़ोतरी हो सकती है। राज्य में 2013 में हुए पंचायत चुनाव में 76.76 फीसदी मतदान हुआ था।

 

 

 

बोरा ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया, कुछ स्थानों पर फिर से चुनाव होंगे। हमें मतपत्रों में समस्याओं (उम्मीदवारों के चुनाव चिह्न में गड़बड़ियों) की रिपोर्ट मिली है। कुछ बूथों पर बड़ी संख्या में लोगों के नाम ही मतदाता सूची में नहीं थे। हमने दोबारा चुनाव के लिए सात दिसंबर की तारीख तय की है और यह चुनाव 20 बूथों पर कराए जाएंगे। हालांकि इस संबंध में अभी तक अंतिम रिपोर्ट नहीं आई है, लेकिन आयोग ने बिश्वनाथ, लखीमपुर और शिवसागर जिलों के कुछ बूथों पर दोबारा चुनाव कराने का निर्णय लिया है। दूसरे चरण का मतदान नौ दिसंबर को है और मतों की गिनती 12 दिसंबर को की जाएगी।