गठबंधन सरकार से नाराज यूडीपी, संगमा को दी चेतावनी

Daily news network Posted: 2018-04-14 12:47:38 IST Updated: 2018-04-14 12:47:38 IST
गठबंधन सरकार से नाराज यूडीपी, संगमा को दी चेतावनी
  • गठबंधन सरकार में यूडीपी को सिर्फ निराशा हाथ लगी है, क्योंकि गठबंधन का नेतृत्व करने वाली एनपीपी द्वारा यूडीपी को उचित सम्मान नहीं दिया जा रहा है।

शिलोंग।

यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी (यूडीपी) की जयंतिया हिल्स इकाई ने मुख्यमंत्री कोनराड संगमा से अपील की है कि अगर जयंतिया हिल्स स्वायत्तशासी जिला परिषद में कार्यकारी सदस्यों की नियुक्ति से जुड़ी फाइल की सहमति के लिए राज्यपाल को नहीं भेजेंगे तो परिषद यूडीपी को एमडीए सरकार से बाहर निकलने के लिए सुझाव देंगे। यूडीपी की जयंतिया हिल्स के महासचिव किटबोक्लांग नांग्डू ने कहा कि पार्टी ने मुनलाइन पारियाट की नेतृत्व में जयंतिया हिल्स स्वायत्तशासी जिला परिषद की नई कार्यकारी समिति का गठन किया है। 



 

 

उन्होंने कहा कि हमने गत 29 मार्च को जिला परिषद मामलों के विभाग को कार्यकारी समिति के सदस्यों के नाम सहित एक फाइल भेजी दी है, लेकिन मुख्यमंत्री ने सहमति के लिए यह फाइल राज्यपाल को नहीं भेजी है। वर्तमान में जयंतिया हिल्स स्वायत्तशासी जिला परिषद केवल मुख्य कार्यकारी सदस्य (सीईएम) के साथ काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि गठबंधन सरकार में यूडीपी को सिर्फ निराशा हाथ लगी है, क्योंकि गठबंधन का नेतृत्व करने वाली एनपीपी द्वारा यूडीपी को उचित सम्मान नहीं दिया जा रहा है। 



 

आपको बता दें कि राज्यपाल गंगा प्रसाद ने सबसे बड़े दल को विधान सभा में बहुमत साबित करने का मौका दिये जाने के कांग्रेस के आग्रह के बीच एनपीपी अध्यक्ष को नई सरकार बनाने का न्यौता दिया था। संगमा ने राज्यपाल से मिलकर राज्य में नई सरकार बनाने का दावा पेश किया था। साठ सदस्यों वाली विधानसभा में उन्होंने 34 विधायकों के समर्थन का दावा किया था। इनमें एनपीपी के 19, यूडीपी के छह, एचएसपीडीपी और भारतीय जनता पार्टी के दो-दो, पीपुल्स डेमोक्रेटिक फ्रंट के चार विधायक शामिल हैं। इस गठबंधन को एक निर्दलीय विधायक का भी समर्थन है।