अरुणाचल और असम में शहीद हुए यूपी के दो जांबाज, गांव पहुंचा शव

Daily news network Posted: 2018-03-30 16:21:15 IST Updated: 2018-03-30 16:21:15 IST
अरुणाचल और असम में शहीद हुए यूपी के दो जांबाज, गांव पहुंचा शव
  • उत्तर प्रदेश के दो जांबाज देश की सेवा करते हुए शहीद हो गए। एक असम में तो दूसरा अरुणाचल पद्रेश में शहीद हुआ।

नर्इ दिल्ली।

उत्तर प्रदेश के दो जाबांज देश की सेवा करते हुए शहीद हो गए। एक असम में तो दूसरा अरुणाचल पद्रेश में शहीद हुआ। दोनों जवानों के शवों को शुक्रवार को मथुरा स्थिति उनके गांव ले जाया गया। जहां जनसमूह ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस दौरान वंदेमातरम के नारों से माहौल गूंजता रहा।


 


तमांग में हुए बम ब्लास्ट में शहीद

 

बता दें कि बलदेव विकास खंड के नगला लोका के रोहताश पुत्र पप्पू सिंह 28 मार्च को अरुणाचल प्रदेश के तमांग में हुए बम ब्लास्ट में शहीद हो गए। शुक्रवार की सुबह उनका पार्थिव शरीर गांव पहुंचा तो लोग उनके अंतिम दर्शन के लिए उमड़ पड़े। लेकिन प्रशासन की ओर से कोई अफसर शहीद के अंतिम संस्कार में शामिल होने नहीं पहुंचा, जिससे गांव के लोगों में आक्रोश देखने को मिला।

 


 

 कालीचरण गुवाहटी में शहीद

 वहीं चौमुंहा के कालीचरण पुत्र सामंता असम के गुवाहाटी में शहीद हो गए। उनका पार्थिव शरीर जब गांव पहुंचा तो जन समुह उनके अंतिम दर्शन के लिए उमड़ पड़ा। उनकी शव यात्रा में केबिनेट मंत्री चौधरी लक्ष्मीनरायन, विद्युतमंत्री के प्रतिनिधि सूर्यकांत शर्मा व एसडीएम छाता शामिल हुए।

 

 

20 लाख आैर सरकारी नौकरी का वादा

 

केबिनेट मंत्री ने शहीद कालीचरण के परिवार को 20 लाख रुपये व आश्रित को सरकारी नौकरी दिए जाने का वादा किया। साथ ही उन्होंने कहा गांव में विधायक निधि से शहीद द्वार बनाया जाएगा और पांच लाख रुपये शहीद की मूर्ति लगाने को दिए जाएंगे।