कठुआ गैंगरेप के बाद मेघालय से आई दहला देने वाली खबर,पांच लोगों ने किया नाबालिग का रेप

Daily news network Posted: 2018-04-14 13:10:56 IST Updated: 2018-04-14 14:44:11 IST
कठुआ गैंगरेप के बाद मेघालय से आई दहला देने वाली खबर,पांच लोगों ने किया नाबालिग का रेप
  • जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आठ साल की बच्ची और उन्नाव में युवती के साथ गैंगरेप मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि मेघालय में हुए एक और गैंग रेप ने पूरे देश को फिर हिला कर रख दिया है।

शिलांग

जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आठ साल की बच्ची और उन्नाव में युवती के साथ गैंगरेप मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि मेघालय में हुए एक और गैंग रेप ने पूरे देश को हिला कर रख दिया। मामला मेघालय के गारो हिल्स का है, जहां 15 साल की नाबालिग लड़की को अगवा कर उसी के रिश्तेदार ने अपने चार साथियों के साथ मिलकर हवस का शिकार बनाया। 

 

 


 बुधवार की शाम तुरा- गोरोबाथ रोड पर नाबालिग लड़की के साथ पांच लोगों ने कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार किया। जानकारी के अनुसार ये सभी आरोपी लड़की को एक गाड़ी में अगवा कर तुरा के दामलग्रे- गोरोबाथ की सुनसान सड़क पर पहुंचे, जहां पर उन्होंने इस घिनौनी वारदात को अंजाम दिया। इन सभी आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। 

 



घटना का खुलासा तब हुआ जब लड़की की मां ने अपनी बेटी को रिश्तेदार से साथ गाड़ी में कहीं जाते हुए देख लिया, शक होने पर लड़की की मां ने स्थानीय लोगों के साथ मिलकर गाड़ी को रोक लिया और उन पांचों आरोपियों को पकड़ लिया।

 

 


 इन सभी आरोपियों में दक्षिण पश्चिम गारो हिल्स जिले के चोंडनपारा गांव में रहने वाले एक 16 साल का नाबालिग लड़का भी शामिल हैं। आरोपियों की पहचान सर्जियस आर मारक, बेटिंग के मालखापरा गांव का रहने वाला तेंग्सवान ए मारक (25) , गरिकजरेंग बी मारक (25) और अरिमिला के सेंट मैरी स्कूल तुरा के पास रहने वाले 18 साल का टेंग्सन आर मारक के रूप में हुई।

  

 

 

 


 पुलिस ने 16 साल के आरोपी को बाल सुधार गृह भेज दिया है। उसे जल्द ही बाल न्याय बोर्ड के तहत पेश किया जाएगा, जबकि अन्य चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।



 

बता दें कि राज्य में यह पहला ममला नहीं है, इससे पहले भी मेघालय के पश्चिम गारो हिल्स से दिल दहला देने वाला मामला सामने आया था। इलाके में पब्लिक स्वास्थ्य इंजीनियरिंग (पीएचई) विभाग के दो कर्मचारियों ने कथित तौर पर 7 व 8 वर्ष की नाबालिग लड़कियों के साथ यौन उत्पीड़न किया।

 

 




घटना मेघालय के पश्चिमी गारो हिल्स में तुरा में दकोप्रे पीएचई विभाग की थी। मंगलवार की शाम को पीड़ितों के परिवार ने तुरा महिला पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज करवाई, जिसके बाद पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दूसरा अभी भी फरार है। आरोपियों की पहचान सेसेलिया ब्लॉक के भजमारा के इलाके के निवासी, कोसेह हाजोंग (25) और तुरा शहर में लोअर सनी पहाड़ी इलाके से नोकोश मरक (45) के रूप में हुई ।