बजरंग दल और वीएचपी ने दी भाजपा के मुख्यमंत्री को धमकी

Daily news network Posted: 2018-04-02 11:38:23 IST Updated: 2018-06-22 15:12:05 IST
बजरंग दल और वीएचपी ने दी भाजपा के मुख्यमंत्री को धमकी
  • त्रिपुरा में भाजपा की सरकार आते ही गो हत्या का मुद्दा गरमा गया है। विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल जोर शोर से गो हत्या के मुद्दे को उठा रहे हैं।

अगरतला।

त्रिपुरा में भाजपा की सरकार आते ही गो हत्या का मुद्दा गरमा गया है। विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल जोर शोर से गो हत्या के मुद्दे को उठा रहे हैं। वीएचपी और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने अगरतला के अरुंधतिनगर और जयपुर इलाके में विरोध प्रदर्शन किया। इनका आरोप है कि विशेष समुदाय के लोग गो हत्या में शामिल है। वीएचपी और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने कहा कि अगर राज्य में तुरंत गो हत्या नहीं रुकी तो बड़ा आंदोलन किया जाएगा। 

 

 

 

 

वीएचपी और बजरंग दल की धमकी के चलते मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब जो पहले भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष थे, को तुरंत आगे आना पड़ा और वीएचपी नेताओं से आंदोलन वापस लेने की अपील की, जिसके बाद विरोध प्रदर्शन वापस ले लिया गया। त्रिपुरा में विश्व हिंदू परिषद के सचिव अमल चक्रवर्ती ने कहा कि बांग्लादेशी नागरिकों का एक वर्ग गैर कानूनी तरीके से राज्य में घुस आया है। कम्यूनिस्टों के लंबे शासकाल के दौरान उन्होंने भारतीय वैध दस्तावेज हासिल कर लिए। हम चाहते हैं कि इस तरह के बांग्लादेशी घुसपैठिये हमारे राज्य से चले जाएं। 

 

 

 

 

 

 

हम दैवीय प्रतीक के रूप में गाय की पूजा करते हैं। हम यहां पर गो हत्यारों को सहन नहीं करेंगे। बजरंग दल के स्टेट लीडर बिमल सूत्रधार और कृष्णा देबबर्मा जो विरोध प्रदर्शन में शामिल थे, ने कहा कि त्रिपुरा में प्रत्येक शनिवार को गायों की हत्या होती है। 

 

 

 

 

 

सूत्रधार और देबबर्मा ने कहा कि हमने साधन मियां और अन्य को एडी नगर में गाय की हत्या करने से रोका। लेकिन पुलिस थाने में कोई शिकायत दर्ज नहीं की गई। अगर तुरंत गो हत्या बंद नहीं हुई तो विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल जवाब देंगे। अमल चक्रवर्ती के नेतृत्व में बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने जय श्री राम के नारे भी लगाए।