त्रिपुरा पुलिस ने 1 हजार 115 किलो गांजा किया जब्त, कोयले के बीच छुपाकर करते थे तस्करी

Daily news network Posted: 2018-03-30 15:06:07 IST Updated: 2018-03-30 15:30:08 IST
त्रिपुरा पुलिस ने 1 हजार 115 किलो गांजा किया जब्त, कोयले के बीच छुपाकर करते थे तस्करी
  • त्रिपुरा से एक महीने के अंदर नारकोटिक्स ब्यूरो व पुलिस को एक बार फिर से बड़ी सफलता हाथ लगी है, ब्यूरो ने अगरतला के जेठुली गांव में स्थित राजा भट्ठा के समीप कोयला लदे ट्रक के अंदर से

अगरतला

त्रिपुरा से एक महीने के अंदर नारकोटिक्स ब्यूरो व पुलिस को एक बार फिर से बड़ी सफलता हाथ लगी है, ब्यूरो ने अगरतला के जेठुली गांव में स्थित राजा भट्ठा के समीप कोयला लदे ट्रक के अंदर से 1 हजार 115 किलो  गांजा के साथ तीन लोगों को गिरफ्तार किया। जब्त किये गए इस गांजे की बाजार में अनुमानित कीमत 50-55 लाख रुपए बताई जाती है।

 


 गांजे की खेप त्रिपुरा के अगरतला से फतुहा के एक कुख्यात गांजा व्यापारी के लिए लाई गई थी। हालांकि नारकोटिक्स विभाग ने जांच प्रभावित होने की वजह से व्यापारी का नाम नहीं बताया। गांजा की यह खेप ट्रक के डाले में बीचों बीच तहखाने में छिपाकर लाई जा रही थी तथा ऊपर से कोयला लदा था।

 


 यह खेप अगरतला से बड़े ही शातिर तरीके से लाई गई थी। गिरफ्तार लोगों में अगरतला के प्रदीप कुमार यादव व विप्लव दास गुप्ता तथा असम के आशीष राय शामिल हैं। उनसे पूछताछ की जा रही है।

 

 



ब्यूरो के इंटेलिजेंस पदाधिकारी आरके दूबे ने बताया कि गुप्त सूचना मिली कि अगरतला से फतुहा के लिए गांजा की एक बड़ी खेप निकलने वाली है। इसके बाद हम लोगों ने झारखंड के बरही मोड़ से इस गाड़ी की पहचान कर पीछा करना शुरू कर दिया। गाड़ी जैसे ही फतुहा के जेठुली पहुंचने वाली थी तो इस बात की जानकारी नदी थाने को दी गई। नदी थाना प्रभारी अक्षयवर सिंह बिना देरी किए मौके पर पहुंचकर कोयला लदी ट्रक को कब्जे में ले लिया तथा उस पर सवार तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया।

 


 बता दें कि बीते चार मार्च को नारकोटिक्स विभाग के जोनल निदेशक टीएन सिंह ने फतुहा थाने के सहयोग से बोलेरो में लदा 150 किलो गांजा बरामद किया था। ट्रक पर नगालैंड का नंबर प्लेट लगा है। ब्यूरो पदाधिकारी आर के दुबे के अनुसार, गिरफ्तार लोगों से पूछताछ की जा रही है। इसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।