नाटकीय अंदाज में परिवहन अधिकारी प्रसन्नजीत घोष को किया गिरफ्तार

Daily news network Posted: 2018-04-10 16:04:57 IST Updated: 2018-04-10 17:01:29 IST
नाटकीय अंदाज में परिवहन अधिकारी प्रसन्नजीत घोष को किया गिरफ्तार
  • एपीएससी घोटाले के मास्टर मांइड राकेश पाल गिरोह के एक आैर अभियुक्त पर शिकंजा कस गया है।

गुवाहाटी।

एपीएससी घोटाले के मास्टर मांइड राकेश पाल गिरोह के एक आैर अभियुक्त पर शिकंजा कस गया है। तेजपुर में सोमवार को नाटकीय अंदाज में डिब्रुगढ़  से आई पुलिस की एक टीम ने शाेणितपुर जिला पुलिस अधीक्षक कार्यालय परिसर से जिले के परिवहन अधिकारी प्रसंनजीत घोष को गिरफ्तार किया। गिरफ्तारी के बाद पुलिस टीम घोष को गुवाहाटी लेकर चली गई।

 


 

 

 जानकारी के मुताबिक शोणितपुर जिला उपायुक्त के सभागार में पथ सुरक्षा संबंधी एक बैठक चल रही थी, जिसमें परिवहन अधिकारी प्रसंनजीत घोष भी मौजूद थे। पूरी तैयारी के साथ गर्इ डिब्रूगढ़ पुलिस टीम ने बड़े ही नाटकीय अंदाज में घोष को गिरफ्तार किया। बता दें कि परिवहन अधिकारी को बैठक के बीच से पुलिस अधीक्षक कार्यालय बुलाया गया था, जहां पहुंचने पर घोष को पुलिस के हवाले कर दिया गया।     

 



 

 


गौरतलब है कि कामरूप मेट्रो में परिवहन अधिकारी के पद पर रहते हुए घोष पर कोयला सिंडिकेट से जुड़े होने के आरोप सामने आए थे, जिसके बाद मामले की जांच कर रही सीआर्इडी ने घोष को पूछताछ के लिए तलब किया था। इसी बीच पिछले महीने 10 मार्च को तेजपुर में परिवहन अधकारी का जिला परिवहन अधिकारी के तौर पर तबादता कर दिया गया था।

  

 

 


सूत्रों के मुताबिक 2015 में राकेश पाल को मोटी रकम देकर जिला परिवहन अधिकारी की नौकरी हासिल की थी। जांच के दौरान घोष की उत्तर पुस्तिका नकली पार्इ गर्इ। अब प्रसन्नजीत की गिरफ्तार के बाद उनकी पत्नी भी अधिकारियों के रडार पर है, जो फिलहाल चक्र अधिकारी के रूप में कार्यरत हैं।