कभी भगवान शिव के उपासक ने बनाया था ये किला, फिर छत्रपति शिवाजी ने किया ऐसा काम

Daily news network Posted: 2019-02-03 16:25:35 IST Updated: 2019-02-03 16:25:35 IST

महाराष्ट्र की पहाडिय़ों में एक बेहद खूबसूरत किला है, जिसका नाम है तोरणा किला। तोरणा किला पुणे जिले में मौजूद है। 4603 फीट की उंचाई पर मौजूद यह किला पुणे जिले का सबसे ऊंचा किला माना जाता है और यही कारण है कि ट्रैकिंग प्रेमियों को यह जगह लुभाती है। एतिहासिक रिकॉर्ड के अनुसार तोरणा किले को 13वीं शताब्दी में भगवान शिव के उपसाक ने बनवाया था,पर 17वीं शताब्दी के दौरान मराठा शासक शिवाजी ने इसे जीत लिया तो यह मराठा साम्राज्य का केंद्र बन गया। 




तोरणा किला इतिहास और एडवेंचर दोनों को समेटे हुआ है। किले में मराठा साम्राज्य का इतिहास मौजूद है। शहर से दूर प्राकृतिक सुंदरता के बीच मौजूद किले में आपको शांति और सूकून दोनों मिलेगी। तोरणा किले के आसपास राजगढ़ का किला, राजगढ़, सिंहाबाद और पुरंदर किला भी मौजूद है, जहां आप घूम सकते हैं। तोरणा किला आने के लिए आप हवाई मार्ग से भी आ सकते हैं। इसके लिए आपको पुणे एयरपोर्ट पर उतरकर तोरणा किले के लिए टैक्सी बुक करने पड़ेगी। एयरपोर्ट से तोरणा किला लगभग 60 किलोमीटर की दूरी पर है। इसके अलावा अगर आप रेल मार्ग से आना चाहते हैं तो आप तोरणा किले से लगभग 52 किलोमीटर की दूरी पर मौजूद पुणे में रेलवे स्टेशन मौजूद है। तोरणा किला देखने पर्यटक पूरे साल आते रहते हैं, लेकिन ट्रैकिंग और एडवेंचर लवर मॉनसून के बाद आना पसंद करते हैं। मानसून के बाद हरियाली और ठंडी हवाएं पूरे ट्रैकिंग का रोमांच बढ़ाती हैं।