अभी नहीं टला है खतरा, जानिए क्या करें जब आने वाला हो भयानक तूफान

Daily news network Posted: 2018-05-14 10:26:18 IST Updated: 2018-05-14 10:26:18 IST
अभी नहीं टला है खतरा, जानिए क्या करें जब आने वाला हो भयानक तूफान

पूर्वोत्तर राज्यों सहित देश के कई हिस्सों में तूफान का खतना अभी टला नहीं है।  उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल में गंगा के तटवर्ती इलाकों, असम, मेघालय तथा त्रिपुरा में अलग-अलग स्थानों पर अगले 24 घंटे के दौरान 50 से 70 किलामीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज आंधी चलने के आसार हैं। मौसम विभाग ने शनिवार को अलर्ट जारी किया।


 

दूसरी तरफ पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश और राष्ट्रीय राजधानी में रविवार को तेज हवाओं के साथ बारिश होने के कारण कम से कम 49 लोगों की मौत हो गयी और भारी नुकसान हुआ। उत्तर प्रदेश में आंधी के कारण 18 लोगों की मौत हो गई, जबकि पश्चिम बंगाल में आंधी के कारण चार बच्चों समेत कम से कम 12 लोग मारे गए। आंध्र प्रदेश में नौ और दिल्ली में दो लोगों के मरने की सूचना है। 

 


प्रधानमंत्री ने आंधी में लोगों की मौत पर दुख प्रकट किया है वहीं उन्होंने अधिकारियों को प्रभावित लोगों की हर संभव मदद मुहैया कराने का निर्देश दिया है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि देश के कुछ हिस्सों में आंधी के चलते लोगों की मौत की सूचना से दुखी हूं। शोक संतप्त परिजन को मेरी संवेदनाएं। घायलों के जल्द स्वस्थ होने की ईश्वर से प्रार्थना करता हूं।




तूफ़ान आने से पहले ये उपाय करें

– घर के बाहरी हिस्से में जो भी मरम्मत के काम हों वो पहले ही करा लें।

–  इधर-उधर पड़े भारी खासकर लोहे जैसे सामान को खुले में न छोड़ें।

– बच्चों और पालतू जानवर घर में हैं, ये सुनिश्चित कर लें।

– तूफान की सूचना है तो अगर यात्रा कर रहे हैं। कार में हैं तो कहीं रुक जाएं, सफर न करें।

– दो-तीन दिन के लिए खाने का सामान स्टॉक करके रख लें।

– जरूरत के लिए पानी का भी स्टॉक कर लें।

– इमरजेंसी के लिए मेडिकल किट रख लें।



 

तूफान आए तो ये करें

– तूफ़ान ने अगर दस्तक दे दी है तो कितना भी जरूरी काम हो, घर से बाहर न निकलें।

– तूफान आए तो घर को पूरी तरह से बंद कर लें।

– घर की बिजली बंद रखें। इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस न खोलें। ये आसमानी बिजली को आकर्षित कर सकते हैं।

– लैंड लाइन टेलीफोन का इस्तेमाल नहीं करें। मोबाइल सुरक्षित हैं।

– पाइपलाइन और वो पाइप न छुएं जिनमें बिजली दौड़ती हो।

– पाइप से आने वाले पानी का इस्तेमाल न करें रखा हुआ पानी ही इस्तेमाल करें।

– ठहरे हुए पानी से ही नहाएं। शावर से न नहाएं। बिजली इसके जरिए भी पहुंच सकती है। करंट आ सकता है।

– लोहे (टीन) और मेटल शीट से दूर रहें। दरवाजों, खिड़कियों से दूर रहें।

– इलेक्ट्रिक सामान से दूर रहें। मोबाइल भी चार्ज न करें। ये काम पहले ही कर लें।

– पेड़ के नीचे या उसके पास खड़े न हों। पेड़ तेज हवा में गिर कर नुकसान पहुंचा सकते हैं।

– कार में हवा के बीच फंस गए हैं तो कार से बाहर न निकलें। हवा हल्की होने का इंतजार करें।

– तूफ़ान आने पर तुरंत ही स्विमिंग पूल, झील, नदी से बाहर आ जाएं।