चला DC ज्ञानी का अभियान, IPL फिक्सिंग-जुआ का भंडाफोड़, तीन गिरफ्तार

Daily news network Posted: 2018-05-11 16:05:31 IST Updated: 2018-05-11 16:05:31 IST
चला DC ज्ञानी का अभियान, IPL फिक्सिंग-जुआ का भंडाफोड़, तीन गिरफ्तार
  • असम के धुबड़ी थाना के अंतर्गत छागलहाटी इलाके में पिछले दिनों आर्इपीएल के सट्टे आैर जुए के अड्डे के खिलाफ धुबड़ी के जिला उपायुक्त अनंतलाल ज्ञानी ने कमान संभाली आैर यहां छापेमारी की।

गुवाहाटी।

असम के धुबड़ी थाना के अंतर्गत छागलहाटी इलाके में पिछले दिनों आर्इपीएल के सट्टे आैर जुए के अड्डे के खिलाफ धुबड़ी के जिला उपायुक्त अनंतलाल ज्ञानी ने कमान संभाली आैर यहां छापेमारी की। छापेमारी के दौरान पुलिस ने तीन जुआरियों को गिरफ्तार किया है तो वहीं कर्इ भागने में सफल रहे। जानकारी के मुताबिक डीसी की कार्यवार्इ इतनी जल्दी हुर्इ थी की छापेमारी की किसी को भनक तक नहीं लगी। बता दें कि जुआंरियों को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया गया है।

 

 

 सुबह से ही जुट जाते हैं आप-पास के लोग

 

 यहां काफी समय से जुए के साथ -साथ तीर, एंडिंग आैर टी-20 क्रिकेट खेल का सट्टे का अवैध कारोबार चल रहा था। यहां पर सुबह से ही आस-पास के लोग जुटने लगते हैं। आस-पास के लोगों को भी इसकी जानकारी थी, लेकिप पुलिस अनजान बनी हुर्इ थी। अब प्रशासन ने शहर के विभिन्न इलाकों में चल रहे जुआ, सट्टा आैर तीर एंडिंग के अवैध काराेबार को बंद करवाने के लिए अभियान छेड़ा है।

 

 


आर्इपीएल आैर टी-20 में लगता है दो करोड़ से ज्यादा का सट्टा

गौरतलब है कि मिली जानकारी के मुताबिक डीसी ज्ञानी ने बुधवार की शाम छापेमारी करने का फैसला लिया। उन्होंने छापेमारी कर तीन लोगों को दबोच लिया। हालांकि कुछ भागने में सफल रहे। सूत्रों का कहना है कि गौरीपुर आैर धुबड़ी से आर्इपीएल आैर टी-20 क्रिकेट खेल पर दो करोड़ से भी ज्यादा का सट्टा लगता है। डीसी के द्वारा पकड़े गए तीनों शातिर जुआरियों में से दो धुबड़ी के हैं जबकि एक युवक गौरीपुर का रहने वाला है।

 

 


दिल्ली, मुंबर्इ अौर कोलकता से हाे सकते हैं कनेक्शन

 

पकड़े गए तीनों युवकों के कनेक्शन दिल्ली, मुंबर्इ अौर कोलकता से जुड़े होने का शक है। जुए आैर तीर का यह अवैध कारोबार सुनियोजित तरीके से चल रहा था यही वजह थी कि आस-पास के लोगों का पता होने के बावजूद अभी तक कार्यवार्इ नहीं हो सकी। डीसी ने कार्यवार्इ त्वरित तरीके से की थी इसके बावजूद भी लोगों का खबर लग गर्इ थी आैर बाकी सब भाग लेकिन तीन पकड़े गए। लोगों का आरोप है कि इस अवैध धंधे के में पुलिस की मिलीभगत हैं। तभी तो पुलिस कभी यहां आकर देखने की जरूरत भी महसूस नहीं करती है।