काउंटिंग के साथ ही बढ़ती रही धड़कने, रिजल्ट आया तो 3 वोट से जीता

Daily news network Posted: 2018-12-11 18:00:01 IST Updated: 2018-12-11 18:00:01 IST
काउंटिंग के साथ ही बढ़ती रही धड़कने, रिजल्ट आया तो 3 वोट से जीता
  • पूर्वोत्तर में कांग्रेस का आखिरी किला भी ध्वस्त हो गया है। मिजोरम कांग्रेस के हाथ से निकल गया है। इसके साथ ही पूरा पूर्वोत्तर कांग्रेस मुक्त हो गया है।

आईजोल।

पूर्वोत्तर में कांग्रेस का आखिरी किला भी ध्वस्त हो गया है। मिजोरम कांग्रेस के हाथ से निकल गया है। इसके साथ ही पूरा पूर्वोत्तर कांग्रेस मुक्त हो गया है। मिजोरम की सभी 40 विधानसभा सीटों के नतीजे आ चुके हैं। मिजो नेशनल फ्रंट ने 26 सीटों पर जीत दर्ज की है वहीं कांग्रेस के खाते में 5 सीटें गई है। 8 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की है। राज्य में 25 साल बाद भाजपा का खाता खुला है।

 


भाजपा ने एक सीट पर जीत दर्ज की है। भाजपा ने 39 सीटों पर चुनाव लड़ा था। भाजपा 1993 से विधानसभा चुनाव लड़ती आ रही थी। मिजोरम बहुत छोटा राज्य है। यहां की आबादी 11 लाख के करीब है। राज्य में 7 लाख 22 हजार 739 मतदाता हैं। राज्य की कई सीटों पर बहुत दिलचस्प मुकाबला देखने को मिला। कई सीटों पर उम्मीदवारों ने बहुत मामूली अंतर से जीत दर्ज की। एक सीट पर तो उम्मीदवार मात्र 3 वोटों से जीता।

 

 


 तुइवावल सीट से मिजो नेशनल फ्रंट के उम्मीदवार लालछंदमाराल्ते ने जीत दर्ज की। उन्होंने कांग्रेस के आर.एल.पियानमाविया को सिर्फ 3 वोटों से हराया। इसी तरह लुंगलेई ईस्ट सीट से एमएनएफ के एल.तोचहवन्ग ने निर्दलीय उम्मीदवार ललरिनपुई को सिर्फ 72 वोट से हराया। वहीं लुन्गलेई वेस्ट से एमएनएफ के सी.ललरिनसंगा ने कांग्रेस के सी.रालते को सिर्फ 77 वोटों से हराया।

 

 


आईजोल दक्षिण-2 से निर्दलीय ललछुआनथंगा ने एमएनएफ के देंगक्षिंमगथंगा को 179 वोटों से हराया। उन्होंने कांग्रेस से यह सीट छीनी। तवि सीट से एमएनएफ के आर.ललजिरलियाना ने निर्दलीय आर.ललथातलुआन को 184 वोट से हराया।  हाछेक सीट से कांग्रेस के ललचिरदिका लाल्ते ने एमएनएफ के ललरिनेंगा साइलो को 366 वोटों से मात दी। नॉर्थ लुंगलई सीट से एमएनएफ के वनललतनपुइया ने निर्दलीय वी. मलसवामतलुंगा को 395 वोटों से हराया। कांग्रेस से सीट छीनी। ईस्त तुईपुई सीट से एमएनएफ के रामथनमाविया ने निकटतम प्रतिद्वंदी और निर्दलीय प्रत्याशी सी. एल. तनपुइया को 587 मतों से हराया। एमएनएफ ने यह सीट कांग्रेस से छीनी।