बच्चा चोरी के शक में दो की हत्या, मामले की जांच का आदेश

Daily news network Posted: 2018-06-11 09:26:54 IST Updated: 2018-06-11 09:27:29 IST
बच्चा चोरी के शक में दो की हत्या, मामले की जांच का आदेश
  • असम के कार्बी आंगलांग जिले में भीड़ द्वारा दो युवकों की ' बच्चा चोर ' होने के संदेह में पीट पीटकर हत्या के मामले में जांच के आदेश दे दिए गए हैं. रविवार को इलाके के मजिस्ट्रेट ने इस मामले में जांच के आदेश दिए।

नई दिल्ली

असम के कार्बी आंगलांग जिले में भीड़ द्वारा दो युवकों की ' बच्चा चोर ' होने के संदेह में पीट पीटकर हत्या के मामले में जांच के आदेश दे दिए गए हैं. रविवार को इलाके के मजिस्ट्रेट ने इस मामले में जांच के आदेश दिए। 


गौरतलब है कि जांच का आदेश उस वीडियो के सामने आने के बाद दिया गया है जिसमें एक पुलिसकर्मी इस घटना का वीडियो बनाते देखा गया था. आदेश में कहा गया है कि कार्बी आंगलोंग जिले के उपायुक्त ने अतिरिक्त उपायुक्त जुनुमोनी सोनोवाल को जांच का जिम्मा सौंपा है। 


पुलिस ने जानकारी दी कि अभिजीत नाथ और निलुत्पल दास, कांठे लांगसु पिकनिक स्पॉट जा रहे थे, इसी दौरान उनकी गाड़ी पर हमला किया गया. भीड़ ने डोकमोका कस्बे से करीब 16 किलोमीटर दूर पंजूरी कचारी गांव में उनकी गाड़ी पर हमला किया. चश्मदीदों ने कहा कि 2 युवकों को बुरी तरह से बांस के खंभों और लकड़ियों से गांव के कुछ नशेड़ी मार रहे थे। 



स्थानीय मीडिया में एक वीडियो भी वायरल हो रहा है जिसमें दोनों युवक रहम की भीख मांग रहे हैं. उनका चेहरा और शरीर खून से लथपथ है. वीडियो में निलुत्पल लगातार कह रहा था कि "मैं असम का हूं. मेरे पिता का नाम गोपाल चंद्र दास है और मेरी मां राधिका दास है. हम यहां दिन में आए थे... " इसके बाद भी भीड़ ने उन्हें निर्दयतापूर्वक मारना जारी रखा. गांव वालों ने निलुत्पल के बालों का जूड़ा काट दिया. दोनों युवक खून से लथपथ घटना स्थल पर पाए गए। 



साथ ही आदेश में कहा गया कि अपुष्ट खबरों में कहा गया है कि खाकी पहने एक व्यक्ति को, जिसके पुलिसकर्मी होने का संदेह है , घटना का वीडियो क्लिप बनाते देखा गया. वहीं गुवाहाटी से मिली एक खबर के अनुसार गुवाहाटी कॉमर्स कॉलेज के पास बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी एकत्रित हो गए और उन्होंने व्यस्त आरजी बरुआ रोड को करीब तीन घंटे के लिए जाम कर दिया। 

 


प्रदर्शनकारी कार्बी आंगलोंग जिले में गत शुक्रवार को दो युवकों की पीट पीटकर हत्या किये जाने के मामले में त्वरित न्याय की मांग कर रहे थे. पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर हल्का लाठीचार्ज किया था।