'महाभारत काल में मौजूद था इंटरनेट' बोलकर घिरे बिप्लव देब, तो त्रिपुरा गवर्नर ने किया बचाव

Daily news network Posted: 2018-04-19 10:23:54 IST Updated: 2018-04-19 18:31:50 IST
  • त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब के महाभारत वाले बयान पर जहां विपक्ष उन्हे घेरने का कोई मौका नहीं छोड़ रहा तो वहीं अब बीजेपी के राज्यपाल तथागत राय

अगरतला

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब के महाभारत वाले बयान पर जहां विपक्ष उन्हे घेरने का कोई मौका नहीं छोड़ रहा तो वहीं अब बीजेपी के राज्यपाल तथागत राय ने ट्वीट के माध्यम से अपना पक्ष रखते हुए उनके बयान का समर्थन किया। राज्यपाल तथागत राय ने कहा कि- पुराणिक काल की घटनाओं के बारे में त्रिपुरा के मुख्यमंत्री का अवलोकन सामयिक हैं। 'दिव्य द्रष्टि' और 'पुष्पक विमान'  आदि जैसे उपकरणों की वास्तविकता लगभग असंभव है। 

 


 


बता दें कि सीएम बिप्लब देब ने कहा था कि भारत में तकनीक का इतिहास काफी पुराना है और यहां इंटरनेट का अविष्कार लाखों साल पहले हो गया था। अगर भारत के पास इंटरनेट की तकनीक नहीं होती तो महाभारत में संजय धृतराष्ट्र को युद्ध का आंखों-देखा हाल कैसे बयां कर पाता? उन्होंने कहा कि देश के पास उस वक्त सेटेलाइट मौजूद थी और ये लाखों साल पहले तकनीक के मौजूद होने का प्रमाण है। उन्होंने कहा कि लोग इसे नकार देते हैं, लेकिन यही सच है।


 


 अपने तर्क पर सफाई देते हुए सीएम देब ने कहा कि छोटी सोच वाले इस सच पर विश्वास नहीं करेंगे। सीएम ने कहा कि लोग यहां काम करना चाहते हैं, लेकिन सपने दूसरे देशों के देखते हैं। न उलझें और न ही दूसरों को उलझाएं। सीएम देब ने आगे कहा कि मैं गर्व महसूस करता हूं कि मैंने ऐसे देश में जन्म लिया है, जहां लाखों साल पहले ही अत्याधुनिक तकनीक मौजूद थी। जो देश खुद को तकनीक के माहिर बताते हैं, वह हमारे देश की प्रतिभा से खुद को इस क्षेत्र में आगे बढ़ा रहे हैं। 




बिप्लब अगरतला के प्रगना भवन पीडीएस सिस्टम के कार्यक्रम के दौरान भाषण देने गए थे। उन्होंने कहा कि हमारी सभ्यता और संस्कृति काफी पुरा पुरानी है, लेकिन हम तकनीक का इस्तेमाल भी पुराने समय से करते आ रहे हैं। भारतीयों की प्रतिभा का उदाहरण उन्होंने दिया कि बड़ी-बड़ी कंपनियां जैसे माइक्रोसॉफ्ट के विकास में भारतीयों का अहम योगदान है।