असमः 'उग्रवादियों को देखते ही मार दो गोली'

Daily news network Posted: 2018-01-08 19:13:17 IST Updated: 2018-01-08 19:14:17 IST
  • उग्रवादियों को देखते ही गोली मार देनी चाहिए। भारत के संविधान को न मानने वाला देशद्रोही होता है आैर एेसे लोगों से बातचीत नहीं करनी चाहिए बातचीत एेसे लोगों से की जाती है

गुवाहाटी।

रोटरी क्लब के एक कार्यक्रम में दाे दिवसीय यात्रा पर तेजपुर पहुंचे भाजपा के वरिष्ठ नेता तथा राज्य सभा सांसद डाॅ. सुब्रमण्यम स्वामी ने मीडिया से बातचीत के दौरान पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बयान की आलोचना की है आैर कहा है कि उग्रवादियों को देखते ही गोली मार देनी चाहिए। भारत के संविधान को न मानने वाला देशद्रोही होता है आैर एेसे लोगों से बातचीत नहीं करनी चाहिए बातचीत एेसे लोगों से की जाती है जो संविधान को मानता हो।

 

 

 

 


उन्होंने कहा है कि भाजपा की सरकार विदेशी लोगों की पहचान के लिए एनआरसी अपडेशन को कार्य कर रही है आैर एेसे में अगर ममता के पास कोर्इ सुझााव है तो दें। लेकिन उन्होंने सुझाव की जगह आलोचना कर दी है, जाे बहुत आसान है। उन्होंने कहा कि धार्मिक अत्याचार के कारण देश में आये हिंदुआें का स्वागत है। 


 

 

 

बड़ा चढ़ा कर बयान देने के लिए मशहूर पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कांग्रेस की आलोचना करते हुए कहा है कि इस पार्टी ने सत्तर साल से घुसपैठियों को असम में आने के लिए प्रेरित किया है। ताकि उनका वोट बैंक मजबूत हो सके। तेजपुर में तैनात विमान का  देखने के बाद स्वामी ने कहा कि चीन की गीदड़ भभकियों से हिंदुस्तान किसी भी कीमत पर पीछे नहीं हटेगा। अरूणाचल भारत को हिस्सा था आैर रहेगा। उन्होंने कहा कि वे चीन जायेंगे आैर इस मसले पर बात करेंगे। उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति डाेनाल्ड ट्रंप की पाकिस्तान को कड़े संदेश का स्वागत करतु हुए कहा कि पाकिस्तान की चार भागों में बांटने के लिए ट्रंप को कोशिशें शुरू कर देनी चाहिए। पाक का सिर्फ यही इलाज है।