जान हथेली पर लेकर स्कूल जाते हैं बच्चे, तस्वीरें देख कांप जाएगी आपकी रूह

Daily news network Posted: 2019-08-05 11:46:31 IST Updated: 2019-08-05 11:57:07 IST
जान हथेली पर लेकर स्कूल जाते हैं बच्चे, तस्वीरें देख कांप जाएगी आपकी रूह
  • राज्य में कभी पंद्रह वर्ष का विकास तो कभी परिवर्तनगामी सरकार।

राज्य में कभी पंद्रह वर्ष का विकास तो कभी परिवर्तनगामी सरकार। सभी ने अपने-अपने स्तर पर आम जनता को विकास का सुनहरा सपना दिखाया और विकास होने का ढाक-ढोल पीटा, लेकिन जमीनी हकीकत इसके विपरीत है। अभी भी छोटे-छोटे बच्चों को विद्यालय जाने के लिए खतरनाक रूप से नदी पार करनी पड़ती है। बार-बार निवेदन के बाद भी उन्नयनमूलक काम करना तो दूर अभी तक अधिकारियों द्वारा विद्यालय का दौरा नहीं किए जाने से ग्रामीणों में जबरदस्त नाराजगी है।

 

 


विद्यालय जाने के मार्ग की दुर्दशा देखकर सभी थरथराने लगते हैं। ज्ञात हो कि बच्चे केले के तने पर नदी पार करते हैं। साथ ही कुछ बच्चों को उनके अभिभावक अपने कंधे पर बिठा कर नदी पार करवाते हैं और कुछ बच्चे गमले में बैठकर उफनदी नदी पार करवाते हैं। इस संबंध में जब अभिभावकों से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि उनके बच्चे डर-डर कर शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। विद्यालय में आने के नाम पर उनका कलेजा कांप जाता है, लेकिन उनके बच्चे जीवन-मृत्यु के बारे में सोचे बिना इस गहरे पानी को किसी तरह पार कर विद्यालय जाते हैं।

 

 इधर विद्यालय के शिक्षकों ने बताया कि यह उनकी दिनचर्या बन गई है। सुबह स्कूल में आना, पानी में तैरना, बच्चों को उफनती नदीं में इस पार से उस पार करना, फिर पानी में तैरते हुए घर आना ही उनका काम है।

 


 उन्होंने साथ ही कहा कि विद्यालय की इस अवस्था के लिए बार-बार शिक्षा अधिकारी, उन्नयन खंड अधिकारी और जिला प्रशासन से बात की, मदद की गुहार लगाई, लेकिन आज तक समस्या का समाधान तो दूर समस्या को अनुभव करने भी कोई अधिकारी विद्यालय में नहीं आया। अंत में उन्होंने कहा कि शायद अधिकारी किसी बड़ी घटना होेने का इंतजार कर रहे हैं, जिसके बाद ही वो विद्यालय में उपस्थित होंगे।