विवादों में घिरी इस यूनिवर्सिटी में फिर हुई झड़प, पुलिस ने चलाए आंसू गैस के गोले

Daily news network Posted: 2018-10-11 09:25:50 IST Updated: 2018-10-11 09:25:50 IST
विवादों में घिरी इस यूनिवर्सिटी में फिर हुई झड़प, पुलिस ने चलाए आंसू गैस के गोले

इंफाल

विवादों से घिरे मणिपुर विश्वविद्यालय परिसर के भीतर छात्रों की सुरक्षा बलों के साथ झड़प हुई, जिस दौरान पुलिस ने आंसू गैस के गोलों का इस्तेमाल किया। पुलिस सूत्रों ने यह जानकारी दी। छात्र परिसर में उन सभी 15 शिक्षकों और छात्रों को बिना शर्त रिहा करने की मांग करते हुए प्रदर्शन कर रहे थे, जिन्हें सितंबर में गिरफ्तार किया गया था। 


 



कार्यवाहक कुलपति प्रोफेसर के युगींद्रो द्वारा दर्ज कराई गई प्राथमिकी के बाद सितंबर में इन शिक्षकों और छात्रों को गिरफ्तार कर लिया गया था। झड़प तब हुई जब प्रदर्शनकारी छात्रों ने कुलपति से मुलाकात करने की मांग की और पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोका। मणिपुर विश्वविद्यालय शिक्षक संघ ने छात्रों पर पुलिस की कार्रवाई की घोर निंदा की है।




दूसरी तरफ  मणिपुर यूनिवर्सिटी के कार्यवाहक वाइस चांसलर के यूगिंद्रो सिंह ने अपने उस बयान के लिए राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला से माफी मांगी है, जिसमें उन्होंने विश्वविद्यालय परिसर में हाल के आंदोलन में राज्यपाल पर आंदोलनकारियों को प्रत्यक्ष समर्थन देने का आरोप लगाया था। राजभवन सूत्रों ने यह जानकारी दी। राजभवन के एक अधिकारी ने बताया कि सिंह ने आठ अक्टूबर को भेजे एक पत्र में अपने गलत और अनुचित बयान के लिए माफी मांगी है। बता दें कि सिंह ने तीन अक्टूबर को केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय को भेजे पत्र में आरोप लगाया था कि हेपतुल्ला ने 21 सितंबर को एक बैठक के दौरान केंद्रीय विश्वविद्यालय के वीसी के तौर पर उनके चार्ज लेने पर सवाल उठाते हुए आंदोलनकारियों का समर्थन किया था।

 

 


बता दें कि पिछले कुछ महीनों से विश्वविद्यालय परिसर में भारी अशांति है। विश्वविद्यालय छात्रों की 85 दिन लंबी हड़ताल के बाद 23 अगस्त को खुला था। छात्रों ने तत्कालीन वाइस चांसलर एपी पांडे को हटाने की मांग को लेकर हड़ताल की थी। फिलहाल पांडे को निलंबित कर उनके खिलाफ लगे आरोपों की जांच हो रही है।