राज्य के किसान पंजाब, हरियाणा की तरह बनें आत्मनिर्भरः सोनोवाल

Daily news network Posted: 2019-02-12 09:58:56 IST Updated: 2019-02-12 09:58:56 IST
राज्य के किसान पंजाब, हरियाणा की तरह बनें आत्मनिर्भरः सोनोवाल
  • पंजाब, हरियाणा के किसानों की तारीफ करते हुए एक सभा में असम के मुख्यमंत्री ने कहा कि असम राज्य के सभी किसान हरियाणा और पंजाब की तरह आत्मनिर्भर और आर्थिक रूप से मजबूत हों।

गुवाहाटी।

कहीं भी किसानों का नाम लिया जाता है तो सबसे पहले पंजाब, हरियाणा के किसानों को याद किया जाता है क्योंकि ये किसान बहुत ही प्रेरणादायक होते हैं और मेहनती होते हैं, वैसे हर किसान ही मेहनती होता है। पंजाब, हरियाणा के किसानों की तारीफ करते हुए  एक सभा में असम के मुख्यमंत्री ने कहा कि असम राज्य के सभी किसान हरियाणा और पंजाब की तरह आत्मनिर्भर और आर्थिक रूप से मजबूत हों।

 

 राज्य किसानों को ऐसा बनना के लिए सरकार किसानों को हर तरह की मदद करने के लिए श्रुतिबद्ध है। सीएम ने कहा कि किसानों को कम ब्याज पर ऋण के साथ-साथ रियायत देने के पीछे सरकार की यही मंशा है। बता दें कि सीएम सोनोवाल ने धेमाजी स्टेडियम में किसानों के बीच कृषि यंत्र वितरण समारोह कोे संबोधित करते हुए उक्त बातें कही।

 

 उन्होंने किसी भी संगठन का नाम लिए बिना ही कहा कि राज्य के कुछ युवा दिग्भ्रमित होकर आंदोलन करके राज्य में अशांति का वातावरण पैदा कर रहे हैं। सभा के खत्म होने के बाद सीएम  हेलिकॉप्टर से गोगामुख के लिए रवाना हो गए।

 

 सीएम के आगमन पर विरोध प्रदर्शन

 

 आसू, आटासु, कृषक छात्र मुक्ति के नेतृत्व में सीएम के आगमन को लेकर विरोध प्रदर्शन किया।जिसके कारण नगर में तनावपूर्ण माहौल बना हुआ था। आसू के चितो बसुमतारी व आटासु के मनोज गोेगोई के नेतृत्व में सैकड़ों  प्रदर्शनकारियों ने सीएम को काला झंडा दिखाने के उद्देश्य से नगर में मोटरसाइकिल रैली निकाली फिर धेमाजी स्टेडियम की ओर अपना रुख किया।

 

 लेकिन पुलिस और कड़ी सुरक्षा बलों ने उन्हें धेमाजी कॉलेजियेट स्कूल के सामने ही रोक लिया गया, जहां प्रदर्शनकारियों ने जमकर नारेबाजी की और काले गुब्बारे छोड़े। साथ ही कृषक छात्र मुक्ति संघ के कुछ  लोगों ने अर्द्धनग्न होकर विरोध किया। जिसके कारण से  नगर में व्यापाक प्रतिष्ठान दोपहर तक बंद रहे।