जम्मू-कश्मीर में Article 370 खत्म होने के बाद इस राज्य की अटकी सांसें, केंद्र से मांग रहा आश्वासन

Daily news network Posted: 2019-08-07 10:09:03 IST Updated: 2019-08-07 10:19:38 IST
जम्मू-कश्मीर में Article 370 खत्म होने के बाद इस राज्य की अटकी सांसें, केंद्र से मांग रहा आश्वासन
  • इस कड़ी में सिक्किम में विपक्षी दलों ने केंद्र से आश्वासन देने को कहा कि अनुच्छेद 371 (एफ) के तहत राज्य को मिले विशेष दर्जे पर असर नहीं पड़ेगा।

गंगटोक

गृहमंत्री अमित शाह द्वारा अनुच्छेद-370 के तहत जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा प्रदान किए जाने वाले प्रावधानों को खत्म करने के फैसले के बाद कई विपक्षी दलों ने तीखी प्रतिक्रियाएं दी तो कई ने सवाल भी खड़े किए। इस कड़ी में सिक्किम में विपक्षी दलों ने केंद्र से आश्वासन देने को कहा कि अनुच्छेद 371 (एफ) के तहत राज्य को मिले विशेष दर्जे पर असर नहीं पड़ेगा।

 

 

 

नहीं होनी चाहिए छेड़छाड़

हालांकि, सत्तारूढ़ सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा के नेताओं ने इस मुद्दे पर टिप्पणी करने से मना कर दिया। विपक्षी सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट (एसडीएफ) और हामरो सिक्किम पार्टी का मानना है कि अनुच्छेद 371 (एफ) से छेड़छाड़ नहीं होना चाहिए क्योंकि दोनों राज्यों की स्थिति अलग है।

 

 

 

सिक्किम के लोगों में बेचैनी

एसडीएफ के वरिष्ठ नेता के टी ग्याल्टसेन ने कहा कि 1947 के बाद से जम्मू-कश्मीर आतंकवाद से प्रभावित रहा है, इसके विपरीत सिक्किम 1975 में भारत संघ का हिस्सा बनने के बाद से शांत राज्य रहा है। एसडीएफ के नेता ने अनुच्छेद 371 (एफ) को बनाए रखने पर केंद्र से आश्वासन मांगा क्योंकि अनुच्छेद 370 और 35 ए के बारे में खबर आने के बाद से घबराहट फैल गई है। एचएसपी के प्रवक्ता बिरज अधिकारी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर से जुड़े प्रस्ताव के बाद सिक्किम के लोगों में बेचैनी है। केंद्र सरकार के आश्वासन के बाद ही इसका समाधान हो सकता है ।