सिक्किम का विकास राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बना मील का पत्थर: चामलिंग

Daily news network Posted: 2018-03-26 17:32:08 IST Updated: 2018-03-26 17:32:08 IST
सिक्किम का विकास राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बना मील का पत्थर: चामलिंग
  • सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन कुमार चामलिंग ने मनिपाल यूनिवर्सिटी सभागार में आयोजित दो दिवसीय तृतीय अंतरराष्ट्रीय नेपाली महिला साहित्य सम्मेलन के दीक्षांत समारोह में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए

गंगटोक।

सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन कुमार चामलिंग ने मनिपाल यूनिवर्सिटी सभागार में आयोजित दो दिवसीय तृतीय अंतरराष्ट्रीय नेपाली महिला साहित्य सम्मेलन के दीक्षांत समारोह में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए कहा कि सिक्किम सरकार के द्वारा राज्य का विकास पड़ोसी देश नेपाल के लिए भी अनुकरणीय है। यह कार्यक्रम अंतरराष्ट्रीय नेपाली साहित्य समाज द्वारा शहर के 5 माइल स्थित मनिपाल यूनिवर्सिटी में आयोजित किया गया था।


 उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि कई मायनों में समुदाय में स्वाभिमान नहीं होने के कारण अस्तित्व संकट में है। इस कमी की जड़ें पड़ोसी देश नेपाल में ही हैं। जहां बौद्धिक, आर्थिक, संवैधानिक, मानवाधिकार व जन्मसिद्ध अधिकार की स्वतंत्रता पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं।

 


 सीएम ने नेपाल को अभी भी नेपाल को उपभोक्ता राष्ट्र बताया। अलावा नेपाल अभी भी उपभोक्ता राष्ट्र है। चामलिंग ने सिक्किम को इन मान्यताओं की तुलना में काफी आगे बताया।


 सिक्किम सभी मायनों में समृद्ध और स्वतंत्र है। जिसके चलते राज्य का विकास राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मील का पत्थर बन गया है। उन्होंने इसके पीछे सशक्त राजनीतिक इच्छा शक्ति व त्याग के संभव होने के कारण बताया। सीएम ने सिक्किम को गरीबी मुक्त, खुला शौच मुक्त, झोपड़ी मुक्त व पूरी तरह जैविक खेती राज्य बताया। इन सभी उपलब्धियों को हासिल करने के लिए उन्होंने सिक्किम सरकार के बीते 24 वर्षो में किए गए कार्य को जिम्मेदार बताया।


 उन्होंने सिक्किम को विश्व में जैविक खेती के क्षेत्र में कीर्तिमान स्थापित करने वाला राज्य बताया। चामलिंग ने कहा कि नेपाल चाहे तो विश्व का प्रथम जैविख खेती देश बन सकता है। उन्होंने नेपाली समुदाय को वीर जाति के परिचय को परिवर्तन कर वर्तमान आवश्यकता के अनुसार वैचारिक परिवर्तन लाने व ज्ञान एवं विज्ञान को मुख्य अस्त्र के रुप में प्रयोग करने की आवश्यकता पर जोर दिया।


 कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री का नागरिक अभिनंदन भी किया गया। कार्यक्रम को अंतरराष्ट्रीय नेपाली साहित्य समाज के अमेरिका के अध्यक्ष पदम विश्वकर्मा, सम्मेलन आयोजन समिति के अध्यक्ष एवं महिला सशक्तीकरण एवं कल्याण मंत्री तुलसी देवी राई, अंतरराष्ट्रीय नेपाली साहित्य समाज सिक्किम चैप्टर की अध्यक्ष प्रो.पुष्प शर्मा व महासचिव पारस मणि दंगाल ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर नेपाली सहित्य के महिला हस्ताक्षर के रूप में सम्मानित गीता खत्री (नेपाल) शांति छेत्री (सिक्किम) व विंद्या सुब्बा (दार्जिलिंग) का भी अभिनंदन किया गया।