नागालैंड का मजाक उड़ाने वाले थरुर ने फिर किया प्रधानमंत्री मोदी पर हमला

Daily news network Posted: 2018-08-10 08:40:25 IST Updated: 2018-08-10 08:40:25 IST
नागालैंड का मजाक उड़ाने वाले थरुर ने फिर किया प्रधानमंत्री मोदी पर हमला

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने पीएम मोदी और केंद्र सरकार पर एक बार फिर हमला बोला है। इस बार थरूर ने गोरक्षा के नाम पर हो रही हिंसा पर पीएम मोदी की चुप्पी पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रवाद के नाम पर हिंदू राष्ट्र परियोजना को आगे बढ़ाया जाना मूलभूत रूप से भारत के अतीत और उसके संवैधानिक मूल्यों के साथ विश्वासघात होगा। उन्होंने आरोप लगाया कि लोगों को अग्निपरीक्षा से गुजारा जा रहा है और जो भारत माता की जय कहने पर सहमत नहीं होते हैं, उन्हें जान-बूझकर परेशान किया जाता है। थरूर ने कहा कि वे सहिष्णुता के मुख्य हिंदू मूल्य को धता बता रहे हैं, जिसने हमें इस देश में साढ़े छह दशक तक सांप्रदायिक सद्भाव दिया। उन्होंने ऐसा राष्ट्रवाद के नाम पर किया है, जो अपने आप में देशभक्ति से परे है।




 

थरूर शिहाब थंगल स्मृति में बोल रहे थे। उन्होंने थंगल को केरल में हिंदू और मुस्लिम एकता के पीछे की ताकत बताया। गौरतलब है कि यह कोई पहला मौका नहीं है, जब थरूर ने पीएम मोदी पर हमला बोला है। इससे पहले उन्होंने पीएम द्वारा मुसलमानों की टोपी नहीं पहनने पर भी उनकी निंदा की थी। उन्होंने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अपनी यात्राओं के दौरान अजीब सी टोपियां पहनते हैं, लेकिन मुसलमानों की टोपी पहनने से मना कर देते हैं। भाजपा ने उनकी टिप्पणी को पूर्वोत्तर के लोगों का अपमान बताया था। केंद्रीय मंत्री किरन रिजिजू ने मांग की कि कांग्रेस थरूर की टिप्पणी के लिए माफी मांगे।




पीएम नहीं पहनते खास टोपी!

थरूर ने कहा कि मैं आपसे पूछता हूं कि हमारे प्रधानमंत्री देश-विदेश में जहां कहीं भी जाते हैं, हर तरह की टोपियां क्यों पहनते हैं? वह मुसलमानों की टोपी पहनने से हमेशा मना कर देते हैं? उन्होंने कहा कि आप उन्हें पंख लगी नगा टोपियां पहने देखते हैं। आप उन्हें अलग तरह की पोशाकों में देखते हैं, जो कि एक प्रधानमंत्री के लिहाज से ठीक है। इंदिरा गांधी भी तस्वीरों में विभिन्न प्रकार की पोशाकों में दिखती थीं, लेकिन मोदी अब भी हमेशा एक खास टोपी को पहनने से क्यों मना कर देते हैं? पूर्व केंद्रीय मंत्री थरूर समकालीन भारत में नफरत, हिंसा एवं असहिष्णुता के खिलाफ लड़ाई के विषय पर एक संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे।

 




टिप्पणी पर माफी मांगे कांग्रेस

थरूर ने इससे पहले हाल ही में कहा था कि भाजपा सत्ता में लौटी तो संविधान को दोबारा लिखेगी और हिंदू पाकिस्तान के निर्माण का रास्ता तैयार करेगी। उनकी इस टिप्पणी को लेकर भी विवाद हुआ था। उन्होंने कहा कि मोदी हरे रंग से परहेज करते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि यह रंग मुस्लिम तुष्टिकरण से जुड़ा है। थरूर ने कहा कि वह हरा रंग पहनने से क्यों इनकार करते हैं, वह रंग जिसके बारे में उनका कहना है कि यह मुस्लिम तुष्टिकरण से जुड़ा है? यह किस तरह की बात है? अरुणाचल प्रदेश के रहने वाले केंद्रीय मंत्री रिजिजू ने थरूर पर पलटवार करते हुए कहा कि पूर्वोत्तर के लोगों और जनजातियों का अपमान करने के लिए कांग्रेस पार्टी माफी मांगे। थरूर ने पूर्वोत्तर के लोगों और नगा जनजाति की टोपियों को अजीबो-गरीब एवं हास्यप्रद दिखने वाला बताया है।