असम : किशोरी को प्रग्नेंट करने वाले चौकीदार को दस साल सश्रम कारावास की सजा

Daily news network Posted: 2018-04-07 12:03:44 IST Updated: 2018-04-07 12:03:44 IST
असम : किशोरी को प्रग्नेंट करने वाले चौकीदार को दस साल सश्रम कारावास की सजा
  • तिनसूकिया जिला सन्न न्यायधीश पीजे सैकिया ने गत पांच अप्रैल के दुमदुमा थानांतर्गत हिलीक चाय बागान क्लब के चौकीदार राम किशोर ( 38 ) को एक 12 वर्षीय किशोरी के साथ बलात्कार कर उसे गर्भवती करने के आरोप में दस वर्ष सश्रम कारावास की सजा सुनाई ।

तिनसूकिया

तिनसूकिया जिला सन्न न्यायधीश पीजे सैकिया ने गत पांच अप्रैल के दुमदुमा थानांतर्गत हिलीक चाय बागान क्लब के चौकीदार राम किशोर ( 38 ) को एक 12 वर्षीय किशोरी के साथ बलात्कार कर उसे गर्भवती करने के आरोप में दस वर्ष सश्रम कारावास की सजा सुनाई ।





इसके साथ ही दस हजार रुपए का जुर्माना भुगतान करने का आदेश भी दिया । वहीं जुर्माना ना चुकाए जाने पर एक माह अतिरिक्त कारावास भुगतना पड़ेगा । उल्लेखनीय है कि वर्ष 2013 में तिनसुकिया जिले के दुमदुमा थानांतर्गत हिलीका चाय बागान के क्लब के चौकीदार राम किशोर पर एक 12 वर्गीय किशोरी के साथ चार बार बलात्कार कर उसे गर्भवती किए जाने का आरोप लगाकर दुमदुमा थाने में एक प्राथमिकी दर्ज करवाई गई थी ।





इस मामले के तहत 2015  के दस जून  को दुमदुमा पुलिस ने न्यायालय में   चार्जशीट दाखिल की । इसके पश्चात दोनों पक्षों की कई बार अदालत में सुनवाई की गई और अंतत: वकीलों की दलीलें सुनने के बाद तिनसुकिया जिला सन्न के न्यायधीश पीजे सैकिया ने गत पांच अप्रैल को अपना फैसला सुनाते हुए कहा राम किशोर पर  दस वर्ष सश्रम कारावास और दस हजार रुपए जुर्माना लगाया । 






इसके साथ ही पीड़िता को  50 हजार रुपए मुआवजा के रूप में राज्य सरकार द्वारा प्रदान किए जाने का आदेश भी जारी किया गया । इस केश में सरकारी वकील के रूप में बनवारी लाल अग्रवाल और बचाव पक्ष की ओर से एलएन बरकटकी वकील थे ।