भारत-म्यानमार व्यापार व संबंधों को बेहतर बनाने के मुद्दे पर सेमिनार का समापन

Daily news network Posted: 2019-01-12 16:15:37 IST Updated: 2019-01-12 18:33:46 IST
भारत-म्यानमार व्यापार व संबंधों को बेहतर बनाने के मुद्दे पर सेमिनार का समापन
  • 'मणिपुर दक्षिणपूर्वी एशिया का प्रवेश द्वार' विषय पर राजधानी इंफाल में शुक्रवार को एकदिवसीय सेमिनार का आयोजन हुआ। सेमिनार में सीमा व्यापार और द्विपक्षीय संबंधों से जुड़े मुद्दों पर भारत और म्यांमार के प्रतिनिधियों ने विचार-विमर्श किया।

इंफाल।

'मणिपुर दक्षिणपूर्वी एशिया का प्रवेश द्वार' विषय पर राजधानी इंफाल में शुक्रवार को एकदिवसीय सेमिनार का आयोजन हुआ। सेमिनार में सीमा व्यापार और द्विपक्षीय संबंधों से जुड़े मुद्दों पर भारत और म्यांमार के प्रतिनिधियों ने विचार-विमर्श किया।

 


 सेमिनार मुख्यत भारत और म्यांमार के बीच व्यापार और संबंधों को लेकर केंद्रित था। इस सेमिनार में म्यांमार से एक–12 सदस्यों का प्रतिनिधि मंडल आया, जिसमें 8 सदस्य सत्तारूढ़ नेशनल लीग फॉर डेमोक्रेसी (एनएलडी) के सांसद और 4 सीमावर्ती राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल थे।

 


 मणिपुर के कपड़ा, वाणिज्य और उद्योग निदेशालय के निर्देशक सी आर्थर वर्चूईयो ने दोनों देशों के बीच बॉर्डर ट्रेड पर जानकारी देते हुए कहा कि जनवरी 2014 में भारत–म्यांमार सीमा व्यापार पर हुए एक नए समझौते पर विस्तार से जानकारी दी।


  

 वर्चुइयाे कहा कि दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय व्यापार में कई सारी समस्याएं व चुनौतियां है। जिनमें से प्रमुख है: व्यापार सुविधाएं, सुरक्षा, बैंकिंग सेवाएं और लोगों को व्यापार के लिए क्रेडिट सुविधाएं। प्रतिनिधियों ने इन समस्यों व चुनौतियों से निपटने के लिए और व्यापक शोध करने की जरूरत पर जोर दिया।

 


 अभी हाल ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत–म्यानमार सीमा पर 4 जनवरी को एक आधुनिक सुविधाओं से युक्त एक एकीकृत नियंत्रण केन्द्र (इंटेग्रेटेड चेक पोस्ट) का उद्घाटन किया था। भारत के विदेश मंत्रालय के प्रतिनिधि ने कहा कि दोनों देशों के बीच सीमा व्यापार,संपर्क और द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ावा अपनी एक्ट ईस्ट पॉलिसी के अंतर्गत दिया जा रहा है।

 


  


वर्चुइयो ने कहा कि मोरेह की आईसीपी के माध्यम से सीमा व्यापार से संबंधित सुविधाओं, सेवाओं और व्यवस्थाओं को एक ही जगह पर ही उपलब्ध कराएगी। इस केंद्र पर आधुनिक तकनीकों व प्रणालियों से सुसज्जित एकीकृत सेवाएं व सुविधाएं उपलब्ध रहेगी। आप्रवासन, पुलिस,लैंड कस्टम स्टेशन व इसकी कस्टम रोकथाम शाखा,बैंक, दूरसंचार सेवा, हॉस्पिटल, डाक सेवा स्टेशन,वानिकी,मादक पदार्थ जांच केंद्र, नशीली दवा व खाद्य पदार्थ परीक्षण केंद्र व प्रयोगशाला, पशु व वनस्पति संगरोध जैसी सुविधाएं इस आईसीपी पर हर समय उपलब्ध रहेगी। हालांकि दूसरी तरफ म्यांमार में अभी ऑनलाइन वीजा की सुविधा, ट्रांजिट वीजा सिस्टम और वीजा प्रदान केंद्र जैसी सुविधाओं की कमी है।