न्यायालय की निगरानी में नहीं होगी शारदा चिट फंड घोटाले की जांच: सुप्रीम कोर्ट

Daily news network Posted: 2019-02-11 21:17:06 IST Updated: 2019-02-11 21:17:06 IST
न्यायालय की निगरानी में नहीं होगी शारदा चिट फंड घोटाले की जांच: सुप्रीम कोर्ट
  • उच्चतम न्यायालय ने शारदा चिट फंड घोटाला मामले की न्यायालय की निगरानी में जांच कराने से संबंधित एक याचिका सोमवार को खारिज कर दी।

नई दिल्ली।

उच्चतम न्यायालय ने शारदा चिट फंड घोटाला मामले की न्यायालय की निगरानी में जांच कराने से संबंधित एक याचिका सोमवार को खारिज कर दी।

 


 मुख्य न्यायाधीश रंंजन गोगोई और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की दो सदस्यीय पीठ ने निवेशकों के एक समूह की ओर से दायर याचिका को खारिज करते हुए कहा, 'हमें इस याचिका में कोई औचित्य नहीं दिखाई देता है। इसलिए हम शारदा चिट फंड घोटाला मामले की न्यायालय की निगरानी में जांच कराने संबंधी याचिका खारिज करते हैं।'


 बता दें कि राज्य की राजधानी शिलोंग में दूसरे दिन भी शारदा चिटफंड घोटाले में कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से सीबीआई ने पूछताछ की। तृणमूल कांग्रेस के पूर्व राज्यसभा सासंद कुणाल घोष को भी शिलांग दफ्तर तलब किया गया। दोनों से ही देर शाम तक पूछताछ जारी थी। इस बीच सीबीआई सूत्रों के मुताबिक पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी की जा रही है। वहीं भाजपा नेता मुकुल राय को भी तलब किया गया है। सूत्रों के मुताबिक राजीव कुमार और कुणाल घोष को आमने-सामने बैठाकर भी पूछताछ हो सकती है।


 इससे पहले शनिवार को राजीव कुमार से सीबीआई के अफसरों ने करीब आठ घंटे पूछताछ की थी। कुमार पर घोटाले की जांच के लिए बनी एसआईटी के प्रमुख रहते हुए सबूत नष्ट करने के आरोप हैं। रविवार सुबह करीब दस बजे सीबीआई दफ्तर पहुंचने पर कुणाल घोष ने मीडिया से कहा कि उन्हें सीबीआई ने बुलाया है, इसलिए आए है। वह जांच एजेंसी का पूरा सहयोग करेंगे। दोनों को अलग-अलग कमरे में बैठाकर पूछताछ की गई। शनिवार को राजीव कुमार को सीबीआई के बारह अफसरों ने आठ घंटे तक पूछताछ की थी। बकि रविवार को शारदा चिटफंड घोटाले के साथ-साथ रोजवैली चिटफंड का मामला पूछताछ का हिस्सा बन गया। शाम करीब पांच बजे रोजवैली जांच से जुड़ी संजम शेरपा सीबीआई दफ्तर पहुंची।


 

 

 उल्लेखनीय है कि गत तीन फरवरी को कोलकाता पुलिस व सीबीआई के बीच जो भी कुछ हुआ उसके बाद मामला सुप्रीम कोर्ट में पहुचा था। सप्रीम कोर्ट के निर्देश पर शिलांग सीबीआई दफ्तर में पूछताछ हो रही। हालांकि कोर्ट ने साफ कर दिया था कि कुमार को गिरफ्तार नहीें किया जाएगा।