40 साल के मौलवी ने शादी का झांसा देकर 19 वर्षीय युवती से बनाए संबंध

Daily news network Posted: 2018-03-31 12:27:59 IST Updated: 2018-03-31 19:23:05 IST
  • असम में महिलाओं के खिलाफ अपराध की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही है। ताजा मामला एक युवती से कथित बलात्कार का है।

बिश्वनाथ।

असम में महिलाओं के खिलाफ अपराध की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही है। ताजा मामला एक युवती से कथित बलात्कार का है। मौलवी ने युवती को शादी का झांसा देकर पांच माह तक संबंध बनाता रहा। पीडि़ता जब गर्भवती हो गई तो मौलवी ने उसे गर्भपात की दवाई दे दी। घटना बिश्वनाथ चारलियाली के गिरिन्ता गांव की है। आरोपी मौलवी की पहचान अब्दुल शाहिद के रूप में हुई है।

 

 

 


पुलिस ने अब्दुल शाहिद को गिरफ्तार कर लिया है। मामले की जांच जारी है। 40 वर्षीय मौलवी ने गिरिन्ता गांव में रहने वाली 19 लड़की से पांच माह पहले कथित रूप से बलात्कार किया। मौलवी ने लड़की को इस बारे में किसी को कुछ नहीं बताने को कहा। हालांकि घटना उस वक्त सामने आ गई जब लड़की के पेट में दर्द उठा और मां उसे अस्पताल ले गई।

 


डॉक्टर ने बताया कि पीडि़ता पांच माह की गर्भवती है। आरोप है कि मौलवी ने पीडि़ता से शादी का झांसा देकर युवती से संबंध बनाए। बाद में जब घटना प्रकाश में आई तो पीडि़ता की मां ने ग्रामीणों को बताया। ग्रामीणों ने मामले के निपटारे के लिए मीटिंग बुलाई लेकिन मौलवी मीटिंग में नहीं आया।

 

 


 वह चुपके से युवती को गर्भपात के लिए ले गया। मौलवी ने युवती को अपने घर नहीं जाने दिया और उसे अज्ञात स्थान पर बंधक बनाकर रखा। पीडि़ता की मां ने बताया कि मैं दिहाड़ी मजदूर हूं, इसलिए मुझे हर दिन अपनी बेटी को अकेले घर पर छोड़कर काम पर जाना होता है। मेरी बेटी ने हमेशा मौलवी को अपना भाई माना था। मैं भी उस पर भरोसा करती थी। उसने पांच महीने पहले इस तरह की गंदी हरकत की। मेरी बेटी को एक बोतल मेडिसिन दी क्योंकि वह बीमार थी, जो असल में गर्भपात के लिए थी।

 

 

 


जब मेरी बेटी ने दवाई  ली तो उसके पूरे शरीर पर सूजन आ गई। मुझे लगा कि उसे पीलिया है, मैं उसे अस्पताल ले गई। तब तक मुझे पता नहीं था कि वह गर्भवती है। अस्पताल में डॉक्टर ने बताया कि मेरी बेटी गर्भवती है। पीडि़ता ने बताया कि मौलवी ने पांच महीने तक मेरे साथ गलत काम किया है। जब पूछा कि अब मेरे साथ क्या होगा तो उसने मुझे कुछ दवाई दी, उसे लेने के बाद मैं बीमार पड़ गई, इसलिए मुझे अपनी मां को सच्चाई बतानी पड़ी। मौलवी ने मुझे किसी को नहीं बताने को कहा था क्योंकि उसने कहा था कि वह मुझसे शादी करेगा। मैं पांच माह की गर्भवती हूं।