मोदी सरकार के बड़ी काम आई मैरीकॉम,जानिए कैसे

Daily news network Posted: 2019-07-31 12:39:38 IST Updated: 2019-07-31 18:48:42 IST
  • राज्यसभा में ट्रिपल तलाक विधेयक पारित हो गया। ऊपरी सदन में बहुमत नहीं होने के बावजूद विधेयक पारित करवा लेना मोदी सरकार की बड़ी जीत है। बिल के पक्ष में 99 वोट पड़े

गुवाहाटी। राज्यसभा में ट्रिपल तलाक विधेयक पारित हो गया। ऊपरी सदन में बहुमत नहीं होने के बावजूद विधेयक पारित करवा लेना मोदी सरकार की बड़ी जीत है। बिल के पक्ष में 99 वोट पड़े जबकि विपक्ष में 84। अब बिल राष्ट्रपति के पास भेजा जाएगा। उनके हस्ताक्षर के बाद बिल कानून की शक्ल ले लेगा। बिल को पारित कराने में पांच बार की विश्व चैंपियन एमसी मैरीकॉम की भूमिका भी कम नहीं है। मैरीकॉम ने बिल के पक्ष में वोट किया। मैरीकॉम को अप्रेल में राज्यसभा सदस्य के रूप में मनोनीत किया गया था। 

 

बिल पारित कराने में क्षेत्रीय दलों ने निभाई बड़ी भूमिका

 

बिल को पारित कराने के लिए मोदी सरकार ने पूरा जोर लगा दिया। राज्यसभा में विपक्ष की एकता चूर चूर हो गई। भाजपा का फ्लोर मैनेजमेंट बहुत अच्छा था। बिल को पारित कराने में कई क्षेत्रीय दलों ने वोटिंग में हिस्सा नहीं लेकर बड़ी भूमिका निभाई। उनके वोटिंग में हिस्सा न लेने की वजह से बहुमत का आंकड़ा कम हो गया। कांग्रेस के चार सांसद भी वोटिंग के दौरान सदन से गायब रहे। निर्दलीय सांसद केटीएस तुलसी ने भी वोट नहीं किया। राष्ट्रीय जनता दल के राम जेठमलानी और एनसीपी के शरद पवार और प्रफुल्ल पटेल भी मिसिंग थे। 

 

बिल पारित होने पर मैरीकॉम ने जाहिर की खुशी 

 

बिल पारित होने पर मैरीकॉम ने खुशी जाहिर करते हुए कहा, बहुत महत्वपूर्ण बिल पारित हुआ है। सरकार मुस्लिम महिलाओं के लिए जो कदम उठा रही है वे बहुत अच्छे हैं। मेरे खयाल से इनसे महिलाएं और सुरक्षित रहेंगी। आपको बता दें कि जब मैरीकॉम को राज्यसभा के लिए मनोनीत किया गया था तब उन्होंने इसे अपने लिए बड़े सम्मान की बात बताया था। मैरीकॉम ने कहा था, मैंने इसकी कल्पना भी नहीं की थी। मैं सिर्फ अपनी ट्रेनिंग और आने वाली क्वालिफाइंग प्रतियोगिता पर फोकस कर रही थी। 

 

 

राज्यसभा में उठा चुकी है खेलों के लिए बजट बढ़ाने का मसला

 

पांच बार की विश्व चैंपियन मैरीकॉम राज्यसभा में ओलंपिक खेलों के लिए बजट बढ़ाने का मसला उठा चुकी हैं। मैरीकॉम ने ओलंपिक खेलों के लिए बजट बढ़ाए जाने की जरूरत पर बल देते हुए युवा एवं खेल मामले के मंत्री विजय गोयल से जानना चाहा था कि इन खेलों के लिए बजट कैसे बढ़ाया जा सकता है। वर्ष 2012 के ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली मैरीकॉम ने खिलाडिय़ों की समस्याओं को उठाते हुए कहा था कि प्लेयर्स को ट्रेनिंग के दौरान सही खाना नहीं मिलता और खाना समय पर भी नहीं मिलता।