राष्ट्रपति कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी ने तूफान में जान गंवाने वालों के प्रति शोक जताया

Daily news network Posted: 2018-05-14 11:47:12 IST Updated: 2018-05-14 12:58:20 IST
राष्ट्रपति कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी ने तूफान में जान गंवाने वालों के प्रति शोक जताया
  • पूर्वोत्तर समेत देश के कई हिस्सों में रविवार (13 मई) को आए तूफान के कारण कई लोगों की जान चली गई है। वहीं बहुत सारे लोग घायल हुए है।

पूर्वोत्तर समेत देश के अन्य राज्यों में रविवार (13 मई) को आए तूफान के कारण कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी।  वहीं बहुत सारे लोग घायल हुए है। प्राकृतिक आपदा से मरने वालों को लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शोक जताया। 


 



राष्ट्रपति ने अपने ट्विटर अकाउंट से शोक व्यक्त करते हुए लिखा कि- 'देश के अलग-अलग हिस्सों में आंधी-तूफान की वजह से लोगों की जान गई है, ये सुनकर दुख हुआ। इस आपदा से जो लोगों भी प्रभावित हुए उन सभी के प्रति गहरी संवेदनाएं है। खासकर के छोटे बच्चों के लिए।'

 




प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस घटना पर दुख जताते हुए लिखा है- 'देश के कुछ हिस्सों में आंधी के चलते लोगों की मौत की सूचना से दुखी हूं। शोक संतप्त परिजन को मेरी संवेदनाएं। घायलों के जल्द स्वस्थ होने की ईश्वर से प्रार्थना करता हूं।'

 


 

 


कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट के जरिए मृतकों के प्रति संवेदनाएं जताई है- 'आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और पश्चिम बंगाल में बिजली गिरने की वजह से कम से कम 18 लोगों की मौत हो गई है। उनके परिवारों के प्रति मेरी संवेदना है। मैं कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं से आग्राह करता हूं कि वो पीड़ित परिवार की हर संभव मदद करने की कोशिश करें।'

 


 गौरतलब है कि रविवार की शाम दिल्ली, उत्तर प्रदेश , पश्चिम बंगाल, आँध्र प्रदेश समेत कई पूर्वोत्तर के राज्यों में मौसम अचानक खराब हो गया। अंधड और तूफान के साथ कई जगहों पर बिजली गिरी है और कई जगहों पर जमकर बारिश हुई है। देशभर में अब तक इस आपदा से चालीस लोगों की मौत हो गई हैं। असम के कोकराझार के कई इलाके में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हुई। यहां पर एक व्यक्ति की मौत हो गई, और 11 लोग घायल हुए हैं। तेज हवाओं के जलने की वजह से कई पेड़ धराशायी हो गए। वहीं यूपी में अब तक 18 लोगों की मौत हुई है। यूपी के राजपुरा में बिजली गिरने से सौ घरों में आग लग गई और लाखों का नुकसान हुआ है।

 

 

 क्यों बदला है मौसम का मिजाज


विभाग के मुताबिक अरब सागर की ओर से आ रही नम हवा और मैदानी इलाकों में पड़ रही तेज गर्मी से यह वेदर सिस्टम बना है। इससे मैदानी इलाकों में आंधी-बारिश आई। सोमवार को यह पहाड़ी इलाकों की ओर मुड़ गया। इससे वहां बर्फबारी हो रही है और तेज हवाएं चल रही हैं।