PM मोदी की किसान मानधन योजना लागू, इस राज्य से सिर्फ 1 किसान ने किया आवेदन

Daily news network Posted: 2019-09-12 10:42:10 IST Updated: 2019-09-13 12:19:20 IST
PM मोदी की किसान मानधन योजना लागू, इस राज्य से सिर्फ 1 किसान ने किया आवेदन
  • PM मोदी की किसान मानधन योजना के लिए इस राज्य से सिर्फ एक किसान ने आवेदन किया है।

शिलोंग

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज झारखंड से देश भर के 5 करोड़ छोटे और सीमांत किसानों के लिए किसान मानधन योजना लागू कर रहे हैं। लेकिन केंद्र सरकार किसानों को पेंशन देने वाली इस महत्वकांक्षी योजना की लंबी अवधि और अन्य खामियों की वजह से कई राज्यों के किसान इसमें रुचि नहीं दिखा रहे हैं। अभी तक इस योजना के लिए देश भर से 8 लाख 51 हजार 911 किसानों ने ही आवेदन किए हैं। इसमें सबसे चौंकाने वाला आंकड़ा मेघालय से आया है जहां इस योजना के लिए सिर्फ 1 किसान ने आवेदन किया है।

 

क्षेत्रफल के हिसाब से देश के सबसे बड़े राज्य राजस्थान के 62 लाख किसानों में से 51 लाख से ज्यादा इस योजना के दायरे में ही नहीं आते। क्योंकि उनकी आयु इसमें निर्धारित सीमा से बाहर हो चुकी है। बचे 11 लाख किसानों में 12,399 ने ही अभी तक इस योजना के लिए आवेदन किया है हालांकि बाद में यह आंकड़ा बढ़ सकता है। यदि बात करें दूसरे राज्यों की तो मेघालय में अभी तक सिर्फ 1 किसान ने इस इस योजना के लिए आवेदन किया है। वहीं, सिक्किम से 10, गोवा से 74, केरल से 405, तेलंगाना से 4000, पंजाब से 6341, आंध्रप्रदेश से 14,998 और कर्नाटक से 11462 किसानों ने आवेदन किए हैं। 

 

किसान पेंशन अथवा किसान मानधन योजना 18 साल से 40 साल तक के किसानों के लिए लायी गई है। इसमें उनको 55 रुपए से लेकर 200 रुपए प्रतिमाह प्रीमियम जमा भरना होगा। सबसे कम प्रीमियम 18 साल के किसान को 55 रुपए प्रतिमाह का देना है। इसके बाद जैसे-जैसे किसान की उम्र बढ़ेगी प्रीमियम की राशि भी बढ़ती जाएगी। किसान से ली जाने वाली राशि के बराबर ही प्रीमियम राशि केंद्र सरकार भी देगी। जब प्रीमियम भरने वाला किसान 60 साल का हो जाएगा तो उसें 3 हजार रूपए प्रतिमाह पेंशन मिलेगी।

 

इसके अलावा केंद्र सरकार ने राज्यों को पत्र लिखकर कहा है कि यदि किसान सहमति देते हैं तो प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना में उन्हें मिलने वाली राशि में से इस योजना के लिए प्रीमियम काटकर भरा जा सकता है। केंद्र ने इस योजना हेतु तीन सालों के लिए 10774 करोड़ खर्च का अनुमान बताया है।

 

कहा जा रहा है कि पीएम मोदी की किसान मानधन योजना की सबसे बड़ी कमी इसकी लंबी अवधि है। यदि 18 साल की आयु का कोई किसान इस योजना में आवेदन करता है तो उसे 42 साल तक प्रीमियम देना होगा। इसके बाद उसे 3 हजार रुपए प्रतिमाह पेंशन मिलेगी। वहीं, 40 साल की उम्र वाले किसान को भी 20 साल तक प्रीमियम भरना होगा।