25 दिसंबर को चीन को बड़ा झटका देने जा रहे हैं प्रधानमंत्री मोदी, जानिए कैसे

Daily news network Posted: 2018-12-06 09:07:32 IST Updated: 2018-12-07 08:51:06 IST
25 दिसंबर को चीन को बड़ा झटका देने जा रहे हैं प्रधानमंत्री मोदी, जानिए कैसे

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन 25 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के सबसे लंबे रेल-सड़क पुल का उद्घाटन करेंगे। इस पुल के बन जाने से अरुणाचल प्रदेश से लगती चीन की सीमा तक पहुंचना आसान हो जाएगा। पूर्वोत्तर के राज्य असम में ब्रह्मपुत्र नदी पर बने इस बोगीबील पुल की लंबाई 4.94 किलोमीटर है। यह पुल नदी के दक्षिणी किनारे पर स्थित डिब्रूगढ़ जिले को अरुणाचल प्रदेश की सीमा से लगते धेमाजी जिले के सीलापथार को जोड़ता है। 


 

 

रेलवे के अधिकारी ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी इस पुल का उद्घाटन 25 दिसंबर को करेंगे, जिसे सरकार द्वारा सुशासन दिवस के रूप में भी मनाया जाता है। इस पुल की आधारशिला 1997 में तत्कालीन प्रधानमंत्री एच डी देवेगौड़ा ने रखी थी। लेकिन इसका निर्माण कार्य अप्रैल 2002 में ही शुरू हो पाया, तत्कालीन प्रधानमंत्री जब अटल बिहारी वाजपेयी ने रेल मंत्री नीतीश कुमार के साथ इसका शिलान्यास किया था।



 

पुल का निर्माण कार्य पूरा होने की कई तारीखें फेल हो जाने के बाद इस साल तीन दिसंबर को पहली मालगाड़ी ट्रेन इस पुल से गुजरी थी। तीन लेन की सड़क और दो रेलवे ट्रैक वाले इस पुल के निर्माण से अरुणाचल प्रदेश में चीन की लगती सीमा तक पहुंचना आसान हो जाएगा। इससे सैन्य साजो सामान पहुंचाने में भी सहुलियत मिलेगी। गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच लगभग चार किलोमीटर की सीमा लगती है। इस पुल से डिब्रूगढ़ और अरणाचल प्रदेश के बीच की 500 किलोमीटर की दूरी भी 100 किलोमीटर कम हो जाएगी। सौ फीसद वेल्डेड इस पुल का निर्माण विदेश की अत्याधुनिक तकनीक इस्तेमाल से किया गया है।