65वीं जूनियर बॉल बैडमिंटनः मणिपुर ने दी हरियाणा को मात

Daily news network Posted: 2019-06-07 08:52:27 IST Updated: 2019-06-07 15:22:55 IST
65वीं जूनियर बॉल बैडमिंटनः मणिपुर ने दी हरियाणा को मात
  • भारतीय बॉल बैडमिंटन महासंघ व बॉल बैडमिंटन संघ मणिपुर के तत्वाधान में इंफाल में आयोजित 65वें जूनियर राष्ट्रीय बॉल बैडमिंटन चैंपियनशिप में छत्तीसगढ़ की दोनों ही टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए जीत के साथ आगाज किया है

इंफाल

भारतीय बॉल बैडमिंटन महासंघ व बॉल बैडमिंटन संघ मणिपुर के तत्वाधान में इंफाल में आयोजित 65वें जूनियर राष्ट्रीय बॉल बैडमिंटन चैंपियनशिप में छत्तीसगढ़ की दोनों ही टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए जीत के साथ आगाज किया है। छत्तीसगढ़ की गर्ल्स टीम ने जहां अब तक हुए तीनों मैच में जीत हासिल की है वहीं ब्वायज टीम ने भी लगातार दो मैच जीतकर अपने इरादे स्पष्ट कर दिए हैं। छग गर्ल्स टीम ने अपने पहले मैच में उत्तर प्रदेश को 2-0 से हराया।

 

 


देशभर की 29 टीमों के बीच मुकाबला

 5 जून से 9 जून तक इंफाल मणिपुर में आयोजित 65वें जूनियर राष्ट्रीय बॉल बैडमिंटन चैंपियनशिप में छत्तीसगढ़ की टीम ने जीत के साथ आगाज किया है। यहां देश भर से बालक वर्ग की 29 टीमें और बालिका वर्ग की 28 टीमें हिस्सा ले रही हैं। जिनके बीच कांटे की टक्कर देखी जा रही है। छग की टीम में बेस्ट खिलाड़ियों को जगह दी गई है।

 

 



गर्ल्स और ब्वायज टीम के जीत का अंतर

 गर्ल्स टीम : गर्ल्स टीम ने यूपी को पहले सेट में 35-14 से हराया। दूसरा सेट टीम ने 35-22 से अपने नाम किया। दूसरा मुकाबला असम के साथ हुआ जिसमें पहला सेट 35-12 और दूसरा सेट 35-19 से जीता। इसके बाद तीसरे मैच में छत्तीसगढ़ की गर्ल्स टीम ने राजस्थान को भी 2-0 से हराया। जिसमें पहला सेट 35-9 से तो दूसरा सेट 35-10 से जीता। गर्ल्स टीम ने हर मुकाबले में अच्छा प्रदर्शन किया है।

 

 

 

ब्वायज टीम : इस चैंपियनशिप में ब्वायज कैटेगरी में भी छत्तीसगढ़ टीम ने अच्छा प्रदर्शन किया और दोनों ही मुकाबले में जीत हासिल की। पहले मैच में मणिपुर को 35-21 और 35-17 से हराया। इसके बाद दूसरे मैच में छत्तीसगढ़ की टीम ने हरियाणा को भी 2-0 से हराया।

 


आपको बता दें कि पूरे प्रदेश से दोनों ही टीमों के लिए 10-10 खिलाड़ियों का चयन मई में हुई राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के आधार पर किया गया था। उसके बाद दो दिनों तक खिलाड़ियों का कैंप भी लगाया गया था।