असम के आश्रम में चल रहा था गंदा काम,ऐसे हुआ खुलासा

Daily news network Posted: 2018-01-09 15:42:05 IST Updated: 2018-01-09 15:42:05 IST
असम के आश्रम में चल रहा था गंदा काम,ऐसे हुआ खुलासा
  • असम से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां के धेमाजी जिले में स्थित एक आश्रम में पिछले काफी समय से नाबालिग लड़कियों का यौन शोषण हो रहा था।

गुवाहाटी।

असम से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां के धेमाजी जिले में स्थित एक आश्रम में पिछले काफी समय से नाबालिग लड़कियों का यौन शोषण हो रहा था। यौन शोषण करने वाला कोई और नहीं बल्कि आश्रम का डायरेक्टर ही है। वह लंबे समय से अनाथ बच्चियों को अपनी हवस का शिकार बना रहा था। इसका खुलासा उस वक्त हुआ जब एक पीडि़ता किसी तरह उसके चंगुल से भागने में कामयाब रही और पुलिस थाने में आरोपी डायरेक्टर के खिलौफ एफआईआर दर्ज करा दई। आश्रम धेमाजी जिले के सिलापाथर में स्थित है। श्री श्री सेवा आश्रम में नाथ बच्चे रहते हैं।

 

 

 मीडिया से बातचीत में पीडि़त ने आरोप लगाया कि इस तरह की चीजें लंबे समय से चल रही है। वह किसी तरह से आश्रम से बचकर निकलने में कामयाब रही, इस कारण वह पूरी कांड का खुलासा कर पाई। पीडि़ता की ओर से दर्ज कराई गई एफआईआर के मुताबिक आश्रम का डायरेक्टर उसका मुंह ढककर एक कमरे से बाहर ले गया और 7 जनवरी की रात एक अन्य कमरे में बलात्कार किया। उसने पीडि़ता को धमकी दी थी कि अगर इस बारे में किसी को कुछ बताया तो उसे जान से मार देगा। पीडि़ता किसी तरह कमरे से वहां से भागने में कामयाब रही और उसने पड़ोस के घर में शरण ली। इस कांड के मुख्य आरोपी की पहचान माधाब कृष्णा गोस्वामी के रूप में हुई है,जो श्री श्री सेवा आश्रम का डायरेक्टर है।

 

 

 सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि स्थानीय लोगों और अनाथालय में रहने वाले लोगों ने अब आरोप लगाया कि आश्रम में लंबे समय से इस तरह की गैर कानूनी गतिविधियां चल रही थी। कई नाबालिग लड़कियों को मॉलेस्ट किया गया और आश्रम के डायरेक्टर ने तथाकथित आश्रम में उनसे बलात्कार किया। यह भी सामने आया है कि कई और इस तरह की लड़कियां आश्रम के अंदर फंसी हुई हैं। पीडि़ताओं और कुछ स्थानीय संगठनों ने स्थानीय पुलिस थाने में दो अलग अलग एफआईआर दर्ज कराई है।