एनआरसी से परेशान सरकारी अधिकारी ने की खुदकुशी

Daily news network Posted: 2018-04-10 11:54:09 IST Updated: 2018-04-10 11:54:09 IST
एनआरसी से परेशान सरकारी अधिकारी ने की खुदकुशी
  • राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) को लेकर आम जनता ही नहीं, बल्कि सरकारी अधिकारी भी परेशान हैं। एनआरसी की भारी पेचिंदगियों के चलते नौबत यहां तक आ गई कि लोग खुदकुशी करने लगे हैं।

गुवाहाटी

राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) को लेकर आम जनता ही नहीं, बल्कि सरकारी अधिकारी भी परेशान हैं। एनआरसी की भारी पेचिंदगियों के चलते नौबत यहां तक आ गई कि लोग खुदकुशी करने लगे हैं। वह भी किसी ग्रामीण या अशिक्षित व्यक्ति ने नहीं, बल्कि सरकारी अधिकारी ने कथित रूप से एनआरसी से परेशान होकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली।

 





घटना महानगर के जालुकबाड़ी  थानांतर्गत पांडू के चार नंबर कॉलोनी इलाके की है, जहाँ 40 वर्गीय रतन राय नामक इनलैंड वाटर ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट के कर्मचारी का शव फंदेसे लटका पाया गया। परिजनों के अनुसार राय एनआरसी के दस्तावेजों को  लेकर परेशान था भी उसके मन में भय था कि एनआरसी की अंतिम सूची में उसका नाम नहीं आएगा इसके चलते पिछले कुछ समय से मानसिक रूप से भी परेशान चल रहा था।         

 





सरकारी कर्मचारी राय के खुदकुशी करने की घटना सामने आने के बाद जालुकबाडी पुलिस मौके पर पहुंच गई और शव का पंचनामा कर उसे अंत्यपरीक्षण के लिए जीएमसीएच भेज दिया गया। घटना के संदर्भ में पुलिस के जांच जारी है।

 




एनआरसी को लेकर राज्य में खुदकुशी करने की यह कोई पहली घटना नहीं है।  इस तरह की दो-तीन घटनाएं सामने आ चुकी हैं उल्लेखनीय है कि एनआरसी कार्य में जुटे शीर्ष अधिकारी से लेकर सरकार बार -बार लोगों  को आश्वस्त कर रही है कि किसी भी भारतीय का नाम एनआरसी से काटा नहीं जाएगा। मगर विडंबना यह है कि एनआरसी प्रक्रिया में कईं तरह की जटिलताएं  हैं, जिसे अाम जनता ठीक तरह से समक्ष नहीं पा रही और ना ही सरकारी अधिकारी सीधे तरीके से उन्हें समझा पा रहे हैं।