मोदी लहर भी नहीं रोक पाई इस पार्टी को, मिला राष्ट्रीय दल का दर्जा

Daily news network Posted: 2019-06-11 18:25:23 IST Updated: 2019-06-11 18:53:35 IST
  • हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनावों में आपने मोदी की प्रचंड लहर देखी होगी। पीएम मोदी 2014 से ही एक के बाद एक राज्य में अपनी तगड़ी पैठ बनाते जा रहे हैं।

हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनावों में आपने मोदी की प्रचंड लहर देखी होगी। पीएम मोदी 2014 से ही एक के बाद एक राज्य में अपनी तगड़ी पैठ बनाते जा रहे हैं लेकिन इसके बावजूद एनपीपी एक ऐसी पार्टी बनकर उभरी है जिसने मोदी की आंधी में भी अपनी भी लहर बना डाली। इसी के चलते एनपीपी आज राष्ट्रीय पार्टी बन गई है। जी हां, महज एक राज्य मेघालय से शुरू हुई इस पार्टी ने यह कारनामा कर दिखाया है। स्वतंत्र भारत के इतिहास में ये पहली बार हुआ है जब पूर्वोत्तर (नार्थ ईस्ट ) की किसी स्थानीय पार्टी को यह दर्जा मिला है।


 


 60 सीटों में से 21 सीटें जीतने के बाद एनपीपी अब मेघालय की सबसे बड़ी पार्टी बन गई है। हाल ही में खत्म हुए लोकसभा और विधानसभा चुनावों में अपने शानदार प्रदर्शन के चलते एनपीपी ने राष्ट्रीय दल की मान्यता के लिए जरूरी शर्तों को पूरा कर लिया है। यह पार्टी पहले से ही अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय और नागालैंड में एक राज्य पार्टी के रूप में मान्यता प्राप्त कर चुकी है। आपको बता दें कि एनपीपी केंद्र में सत्तारुढ़ एनडीए का सहयोगी दल है।

 

 


 आइए अब जानते हैं कैसे किसी पार्टी को राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा प्राप्त होता है

 चुनाव आयोग के नियमों को अगर ध्यान में रखें तो अगर कोई पार्टी चार राज्यों में राज्य स्तरीय पार्टी की मान्यता रखती है तो वो राष्ट्रीय राजनीतिक दल की मान्यता रखने के लिए सभी आवश्यक शर्तों को भी पूरा कर लेती है और आपको बतां दें कि राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा मिल जाने के बाद देश में किसी भी अन्य राजनीतिक दल या प्रत्याशी को अब उस पार्टी का चुनाव चिन्ह जारी नहीं किया जा सकेगा।



 नेशनल पीपल्स पार्टी (एनपीपी)

 एनपीपी का गठन पूर्व लोकसभा अध्यक्ष पीए संगमा ने 2013 में किया था। उन्होंने साल 2012 में कांग्रेस से अलग होकर इस पार्टी की स्थापना की थी। अपने दौर में संगमा पूर्वोत्तर के सबसे बड़े और लोकप्रिय सांसद रह चुके हैं। 2017 में मणिपुर विधानसभा चुनाव में इस पार्टी ने 9 सीटों पर चुनाव लड़ा और 4 सीटों पर जीत दर्ज की थी नेशनल पीपल्स पार्टी (एनपीपी) का राष्ट्रीय चिन्ह किताब है।



 कॉनराड संगमा ने किया ट्वीट

 मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने पार्टी को मिली इस सफलता पर खुशी जाहिर करते हुए एक ट्वीट भी किया है। उन्होंने लिखा की यह बहुत भावुक क्षण है कि पीए संगमा द्वारा स्थापित इस पार्टी को राष्ट्रीय दल का दर्जा मिला है। यह सिर्फ एनपीपी के लिए ही गौरव की बात नहीं है बल्कि समूचे पूर्वोत्तर के लिए एक उपलब्धि है। इसी के साथ ही अरुणाचल में अपनी प्रचंड जीत के चलते जेडीयू को भी राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा मिला गया है।