देश का दूसरा जैविक कृषि राज्य बनने को तैयार बिहार, सिक्किम के साथ हुआ एग्रिमेंट

Daily news network Posted: 2017-11-02 10:29:31 IST Updated: 2017-11-02 10:29:31 IST
देश का दूसरा जैविक कृषि राज्य बनने को तैयार बिहार, सिक्किम के साथ हुआ एग्रिमेंट
  • सिक्किम के बाद देश का दूसरा जैविक कृषि राज्य बनने जा रहा है बिहार जी हां जल्द ही बिहार भी सिक्किम की तर्ज पर जैविक बनने जा रहा है जिसके लिए बिहार और सिक्किम सर्कार के बीच करार भी हुआ है।

सिक्किम के बाद देश का दूसरा जैविक कृषि राज्य बनने जा रहा है बिहार जी हां जल्द ही बिहार भी सिक्किम की तर्ज पर जैविक बनने जा रहा है जिसके लिए बिहार और सिक्किम सर्कार के बीच करार भी हुआ है।

 

 


 इस बात की जानकारी बिहार के कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने दी उन्होंने कहा कि सिक्किम की तरह ही बिहार को भी पूर्ण जैविक राज्य बनेगा। इसके लिए पंचवर्षीय कृषि रोड मैप के माध्यम से जैविक कॉरीडोर योजना शुरू की जा रही है। 9 नवंबर को राष्ट्रपति इस योजना की शुरूआत करेंगे। गंगा के दोनों किनारे के गांवों को जैविक गांव बनाने का लक्ष्य रखा गया है। जैविक सर्टिफिकेशन के लिए बुधवार को विभागीय सभागार में सिक्किम के साथ बिहार का करार होने के बाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

 

 

 

 करार के मुताबिक बिहार के किसानों का निबंधन सिक्किम की एजेंसी में कराया जाएगा। सिक्किम के अधिकारी बिहार में प्रतिनियुक्ति भी होंगे, जो समय समय पर जैविक खेतों का निरीक्षण करेंगे और उत्पादों के लिए प्रमाण पत्र जारी करेंगे।

 

 

 


कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कृषि मंत्री डा. प्रेम कुमार ने कहा कि वर्ष 2016 में सिक्किम देश का पहला जैविक राज्य बना था। अब बिहार में जैविक खेती को प्रोत्साहित किया जा रहा है। कोशिश कामयाब हुई तो देश की हर थाली में राच्य का एक जैविक उत्पाद होगा।

 

 

 

 पटना से नालंदा तक एनएच के दोनों किनारों एवं पटना से भागलपुर तक गंगा नदी के किनारे जैविक कॉरीडोर के रूप में चिह्नित किया गया है। देश के हर थाली में बिहार का एक व्यंजन पहुंचाने के लिए जैविक खेती से सफलता मिलेगी।

 

 

 


कृषि उत्पादन आयुक्त सुनील कुमार सिंह ने कहा कि दूसरी हरित क्रांति पूर्वी भारत से होनी है। इसमें बिहार की बड़ी भूमिका होगी। जैविक खेती की दिशा में बिहार आगे बढ़ेगा। प्रधान सचिव सुधीर कुमार ने कहा कि सिक्किम में 2003 से जैविक खेती शुरू हुई। 2016 में सिक्किम पूर्ण जैविक राज्य घोषित हुआ।

 


 एसएसओसीए की मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी डॉ. यशोदा प्रधान एवं बीएसएसओसीए के निदेशक बेंकटेश नारायण सिंह द्वारा एकरारनामा पर हस्ताक्षर किया गया। मौके पर कृषि निदेशक हिमांश कुमार राय, सुधीर गिरि, आदित्य नारायण राय, गुलाब यादव, अनिल झा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। संचालन संयुक्त निदेशक अशोक प्रसाद व संचालन संजय कुमार ने किया।

 


 गौरतलब है कि जैविक खेती करने वाले किसानों का निबंधन सिक्किम स्टेट ऑर्गेनिक सर्टिफिकेशन एजेंसी (एसएसओसीए) में होगा। यहां से दिया गया प्रमाणपत्र बिहार बिहार स्टेट सीड एंड ऑर्गेनिक सर्टिफिकेशन एजेंसी (बीएसएसओसीए) के माध्यम से मिलेगा। एसएसओसीए के निरीक्षक बिहार में प्रतिनियुक्त होंगे। वे किसानों, किसान समूह के खेतों पर समय-समय पर निरीक्षण करेंगे। जैविक प्रमाणीकरण के लिए निर्धारित अवा की समाप्ति पर किसानों को जैविक प्रमाण पत्र प्राप्त होंगे।