Meghalaya की नर्इ विधानसभा में सभी मंत्री बेदाग, किसी पर नहीं है केस दर्ज

Daily news network Posted: 2018-03-14 14:05:26 IST Updated: 2018-09-15 05:24:08 IST
Meghalaya की नर्इ विधानसभा में सभी मंत्री बेदाग, किसी पर नहीं है केस दर्ज
  • मेघालय में भाजपा गठबंधन की सरकार बनने के बाद एनपीपी के अध्यक्ष काेनराड संगमा को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलार्इ गर्इ थी। संगमा के साथ 12 अन्य विधायकाें ने भी मंत्री पद की शपथ ली थी।

शिलांग।

मेघालय में भाजपा गठबंधन की सरकार बनने के बाद एनपीपी के अध्यक्ष काेनराड संगमा को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलार्इ गर्इ थी। संगमा के साथ 12 अन्य विधायकाें ने भी मंत्री पद की शपथ ली थी। इन मंत्रियों में काेर्इ भी महिला विधायक नहीं थी। आपको बता दें कि मेघालय की इस नर्इ विधानसभा की सबसे खास बात यह है कि इस बार इन मंत्रियों में काेर्इ भी आपराधिक पृष्ठभूमि से नहीं है। 

 

 

 


एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स ने अपनी रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी है कि इस बार कि विधानसभा में काेर्इ भी मंत्री आपराधिक पृष्ठभूमि से नहीं है, जबकि इस बार चुने गए 59 विधायकों में से सिर्फ एक पर ही आपराधिक मुकदमा दर्ज है। 2013 में 60 सदस्यों की विधानसभा में एक विधायक के खिलाफ क्रिमिनल केस था।


 


 करोड़पति विधायक

 

मेघालय में इस बार चुने गए सदस्य काफी अमीर हैं। चुने गए 12 मंत्रियों में से 8 मंत्री एेसे हैं जो करोड़पति हैं। इन मत्रियों की औसत संपत्ति 13.07 करोड़ रुपये है। इनमें से सबसे ज्यादा संपत्ति के मलिक मेताब लिंगदोह हैं। लिंग्दोह ने मैरंग निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव जीता है आैर इन्होंने 87.26 करोड़ रुपये की संपत्ति होने की घोषणा की है।

 


इसके बाद कमिंगाेन यंबोन, जिनके पास कुल 26 करोड़ रुपये की संपत्ति है। इस लिस्ट में तीसरे नंबर पर लखमेन रिम्बुर्इ हैं जिनके पास 11 करोड़ की सम्पत्ति है। इन सबके बाद जिनके पास सबसे कम संपत्ति है वह है हेम्लेटसन दोहलिंग जिनके पास 31.83 लाख की संपत्ति है। दोहलिंग मिल्लियम विधानसभा क्षेत्र से निर्वाचित हैं। बता दें कि इन 12 मंत्रियों में से चार एेसे है जिनकी उम्र 25-40 के बीच है जबकि 8 एेसे है जिनकी उम्र 41-60 के बीच है। 12 मंत्रियों में से कोई भी महिला नहीं है