मिजोरम: एनआईटी के छात्र-छात्राओं ने वापस लिया आंदोलन

Daily news network Posted: 2018-04-09 10:46:47 IST Updated: 2018-04-09 10:46:47 IST
मिजोरम: एनआईटी के छात्र-छात्राओं ने वापस लिया आंदोलन
  • मिजोरम स्थित राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी) के आंदोलनरत छात्र-छात्राओं ने अपना अनिश्चितकालीन आंदोलन वापस ले लिया है।

आइजोल।

मिजोरम स्थित राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी) के आंदोलनरत छात्र-छात्राओं ने अपना अनिश्चितकालीन आंदोलन वापस ले लिया है। दरअसल छात्र-छात्राएं छात्रावास में खाने की खराब गुणवत्ता के चलते आंदोलन पर थे। इनका आरोप था कि घटिया भोजन की वजह से एक छात्र की मौत हो गई।

 

 

छात्र की मौत के बाद शुरु किया था आंदोलन

पुलिस ने बीते सात अप्रैल को बताया कि छात्रों ने दो अप्रैल को आंदोलन शुरू किया था। पुलिस ने छात्र के मौत के मामले की जांच शुरू की, जिसके बाद यह आंदोलन उन्होंने वापस ले लिया गया है। उन्होंने बताया कि बिहार का रहने वाला प्रथम वर्ष का छात्र सेवशरन कुमार 26 मार्च को राजधानी आइजोल के निकट तनहरिल में एनआईटी के छात्रावास में बीमार हो गया और 31 मार्च को गुवाहाटी के एक अस्पताल में उसकी मौत हो गई।

 

 

खराब खाने से मौत का आरोप

एनआईटी छात्र-छात्राओं ने आरोप लगाया कि छात्रावास के कैंटीन में खराब खाना खाने के बाद कुमार फूड पॉयजनिंग की वजह से बीमार हुआ और उसकी मौत हुई। आरोप है कि मृतक ने अपनी मौत से 15 दिन पहले वार्डन अजमल कोया से अपने स्वास्थ्य को लेकर शिकायत की थी। हालांकि वार्डन ने कुछ भी नहीं किया। आरोप है कि परीक्षा इंचार्ज के. ज्ञानेंद्र ने खराब स्वास्थ्य के बावजूद पीडि़त को घर नहीं जाने दिया। जब उसे छुट्टी की अनुमति मिली तो उसके बाद ही उसकी मौत हो गई।